Bijnor News : जेल में मुस्लिम और हिंदू बंदी कर रहे हवन और यज्ञ, जेल परिसर में गूंज रहे गायत्री मंत्र

 
 बिजनौर की जिला कारागार

बिजनौर। बिजनौर की जिला कारागार की चारदीवारी के भीतर इस समय माहौल बदला हुआ है। इस समय बिजनौर जेल के भीतर गायत्री मंत्र और संस्कृत के श्लोक गूंज रहे है। जेल अधीक्षक शैलेंद्र प्रताप सिंह ने बंदियों के कल्याण के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर जेल का माहौल बदलने का प्रयास किया है। जिससे बन्दियों का नैतिक बौद्धिक और सामाजिक विकास हो और बंदी सुधारगृह में रहते हुए अपने भीतर की विकृतियों को दूर कर सके।

Also Read : Gyanvapi Masjid Case : मुस्लिम पक्ष की दलीलें पूरी, अब 4 जुलाई को सुनवाई

इसके तहत जेल के भीतर आज शनि अमावस्या के मौके पर जिला कारागार पूजा अर्चना कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर गायत्री परिवार से जेल परिसर में आए लोगों द्वारा पूजा अर्चना तथा यज्ञ कराया गया। कारागार में बंदियों द्वारा पूर्ण आस्था के साथ यज्ञ कार्य मे भाग लिया गया। इस कार्यक्रम में हिंदू और मुस्लिम बंदियों ने बढ़चढ़कर भाग लिया। बंदियों को आचार्यो द्वारा यज्ञ के महत्व के बारे में बताया गया। कार्यक्रम में जिला कारागार अधिकारियों व कर्मचारियों ने भी पूर्ण आस्था के साथ भाग लिया गया। इस मौके पर कारागार अधीक्षक शैलेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि यज्ञ से वातावरण शुद्ध होता है और अशुद्धिनाशक का त्याग होता है।

Also Read : muzaffarnagar news : पंचायत में खाप थाम्बेदारों की योगी सरकार को ललकार, ट्यूबवेलो पर नहीं लगने देंगे बिजली मीटर

बता दें कि जेल परिसर में अब सुबह बंदियों को योग कराया जाता है और उनको स्वास्थ्य के बारे में जानकारी भी दी जाती है। जेल अधीक्षक ने बताया कि जेल परिसर के भीतर शुक्रवार को नमाज भी बंदी पढ़ते हैं और मंगलवार और शनिवार को सुंदरकांड का पाठ भी करते हैं। जेल में बंद बंदियों में इस समय एक अलग तरह का माहौल है। सभी बंदी जेल के भीतर होने वाले किसी भी धार्मिक अनुष्ठान में पूरी तरह से भाग ले रहे है। इससे जेल का माहौल एक परिवार की तरह हो गया है।