Monsoon Update 2022: तीन दिन पहले पहुंचा मानसून,पांच दिन के भीतर देश के इन हिस्सों में होगी बारिश

 
Monsoon Update 2022

मेरठ। इस बार अन्य सालों की अपेक्षा तीन दिन पहले देश में मानसून ने दस्तक दे दी है। आमतौर पर देश में एक जून के आसपास मानसून पहुंचता है। लेकिन इस बार 29 मई को ही मानसून केरल पहुंच गया। बता दें कि मानसून सबसे पहले केरल पहुंचता है। उसके बाद देश के अन्य प्रांतों में यह जाता है। मौसम विभाग के अनुसार इस बार रविवार 29 मई को मानसून दक्षिण-पश्चिम में सामान्य समय से तीन दिन पहले केरल पहुंचा। मौसम विभाग ने मानसून के केरल पहुंचने की पुष्टि की है। बताया जाता है कि मानसून भले ही केरल में 29 मई को पहुंच गया है। लेकिन इसकी शुरूआत सामान्य तौर पर 1 जून से ही होगी। बता दें कि भारत की कृषि में मानसून को रीढ माना जाता है। मानसून के आने जाने और इसकी अच्छी कंडीशन पर ही कृषि की अर्थव्यवस्था टिकी हुई है। मोदीपुरम कृषि अनुसंधान संस्थान के वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डा0 एन सुभाष ने बताया कि दक्षिण-पश्चिम मानसून ने एक जून की शुरुआत की सामान्य तिथि के मुकाबले गत रविवार 29 मई को केरल की ओर से देश में प्रवेश किया।

Read also: Meerut Petrol Price Today: आज भी पेट्रोल डीजल के दामों में मेरठ सहित देशवासियों को राहत,कंपनियों ने नहीं बढ़ाए दाम

उन्होंने बताया कि 15 दिन पहले बंगाल खाड़ी में आए चक्रवात आसनी के चलते इस बार मानसून ने तीन दिन पहले दस्तक दे दी है। उन्होंने बताया कि केरल के ऊपर दक्षिण-पश्चिम मॉनसून की शुरुआत के लिए इस समय स्थितियां काफी अनुकूल हैं। आगे के लिए भी स्थितियां अनुकूल रहेगी। ऐसा माना जा रहा है। पश्चिम बंगाल की खाड़ी की ओर से उत्तर-पूर्वी तक पश्चिमी हवाओं और दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के एक ट्रफ का प्रभाव बना है। जिसके तहत पूर्वोत्तर भारत के अलावा उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल व सिक्किम में मध्यम बारिश की संभावना है। इसी के साथ उप्र,एनसीआर,पश्चिमी उप्र, झारखंड,बिहार,ओडिशा और पश्चिम बंगाल में गरज के साथ छिटपुट बारिश की संभावना है। आने वाले पांच दिनों में जिन जगहों पर बारिश की संभावना जताई जा रही है उनमें 30 और 31 मई को हिमालयी क्षेत्र, पश्चिम बंगाल,सिक्किम में भारी बारिश की संभावना। वहीं 29 मई से एक जून के दौरान मणिपुर,असम-मेघालय,मिजोरम, त्रिपुरा में बारिश की संभावना बनी हुई है। आने वाले पांच दिनों में कश्मीर,हिमाचल प्रदेश के अलावा उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान और उत्तराखंड में कई स्थानों पर ओलावृष्टि की संभावना है।