UP Vidhan Sabha Budget Session : योगी काल में तीसरी बार बढ़ी विधायक निधि

 
yogi

उत्तर प्रदेश विधानसभा बजट सत्र के आखरी दिन सदन को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी  एक बड़ा एलान किया। मुख्यमंत्री ने विधायक निधि को तीन करोड़ रूपये से बढाकर पांच करोड़ रूपये कर दिया। इसका मतलब विधायक अपने क्षेत्र में ज़्यादा विकास कार्य करवा पाएंगे। 

Also Read : Rajya Sabha Elections: भाजपा उम्मीदवारों ने भरे पर्चे, योगी रहे मौजूद

बता दें कि इससे पहले कोरोना काल के दौरान 2020 में योगी आदित्यनाथ ने विधायक निधि में वृद्धि की थी. तब उत्तर प्रदेश सरकार ने विधायक निधि को दो करोड़ रूपये से बढाकर तीन करोड़ रूपये कर दिया था ताकि कोरोना काल में विधायक लोगों की मदद कर सकें. वहीँ 2019 में मयख़्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस निधि को डेढ़ करोड़ से बढाकर 2 करोड़ रूपये किया था.

वहीँ आज योगी आदित्यनाथ ने सदन में नेता विपक्ष अखिलेश यादव पर भरपूर निशाना साधा। योगी ने कहा कि गोबर से बदबू आती है, इन्हें यह नहीं मालूम कि उत्तर प्रदेश जैसे कृषि प्रधान देश में गाय और गोबर का क्या महत्त्व है. मुख्यमंत्री ने भाजपा और सपा सरकारों के बीच का फर्क भी बताया। उन्होंने कहा कि यह समस्याओं पर चर्चा करके उसमें से बहाने तलाशते हैं जबकि भाजपा सरकार समस्या के समाधान पर चर्चा करके उन्हें हल करने के रास्ते निकालती है, मुख्यमंत्री ने कहा कि फर्क साफ़ है. सीएम योगी ने कहा कि कोरोना की महामारी आयी तो हम उससे भागे नहीं , उसका समाधान तलाशा और भाजपा सरकार ने कोरोना महामारी के दौरान जो जो उपाय किये उससे लड़ने के लिए उसकी तारीफ WHO ने भी की, मुख्यमंत्री ने कहा कि फर्क साफ़ है.

Also Read : राहुल-अखिलेश में कोई अंतर नहीं: सीएम योगी