Yakub Qureshi in Meerut: भगोडे़ इनामी मीट माफिया पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी सहित 17 आरोपियों पर गैंगस्टर की तैयारी,जब्त होगी संपत्ति

 
Yakub Qureshi in Meerut

मेरठ। बसपा नेता और पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी सहित 17 आरोपियों के खिलाफ किठौर पुलिस ने चार्जशीट को कोर्ट में जमा कर दिया है। इस बार चार्जशीट दाखिल करने में पुलिस ने किसी प्रकार की कोई लापरवाही नहीं है। बताया जाता है कि कानूनी जानकारों से पूरी तरह से चार्जशीट का अवलोकन करने के बाद ही उसको जमा किया गया है। बता दें कि अवैध रूप से मीट रखने के आरोप में पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी और उसके दोनों बेटों इमरान और फिरोज के अलावा अन्य लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई थी। गिरफ्तारी से बचने के लिए याकूब कुरैशी और उसके दोनों बेटे इस समय फरार हैं। इन तीनों पर पुलिस ने इनाम भी रखा हुआ है। खरखौदा पुलिस ने अब याकूब कुरैशी उसकी पत्नी शमजिदा बेगम और बेटे इमरान, फिरोज की अपराधिक इतिहास निकाला गया है। याकूब और उसके बेटों के अपराधिक इतिहास और इनके खिलाफ दर्ज मुकदमे में हुई कार्रवाई का ब्योरा बनाकर फाइल तैयार की गई है।

फाइल तैयार करके जिलाधिकारी कार्यालय भेजी गई है। फाइल मेें दर्शाया है कि अवैध कमाई से याकूब और उसके बेटों की आर्थिक स्थित काफी मजबूत हो गई है। इसलिए उनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में मुकदमा दर्ज कर एकत्र की गई अवैध संपत्ति को जब्त कर लिया जाए। पुलिस की ओर से तैयार गैंगस्टर की फाइल डीएम दीपक मीणा के कार्यालय में अनुमोदन के लिए भेजी गई है। जिलाधिकारी से अनुमति मिलने के बाद याकूब परिवार पर गैंगस्टर एक्ट का मुकदमा दर्ज किया जाएगा। बता दें कि 31 मार्च 2022 को थाना खरखौदा और किठौर पुलिस ने हापुड रोड स्थित याकूब कुरैशी की अलीपुर मीट फैक्ट्री पर दबिश दी थी। जहां पर अवैध रूप से मीट पैकिंग पकड़ी थी। इसके बाद पुलिस ने हाजी याकूब कुरैशी, उसके बेटे फिरोज, इमरान और पत्नी शमजिदा बेगम के अलावा 17 आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

Read also: Arvind Giri Death: लखीमपुर से भाजपा विधायक अरविंद गिरि की हार्ट अटैक से मौत, सीएम योगी ने जताया दुख

मुकदमे में पुलिस ने 17 लोगों को आरोपी बनाकर कोर्ट में दो बार आरोप पत्र दाखिल किया है। अब पुलिस याकूब कुरैशी और उनके परिवार के नाम संपत्ति पड़ताल कर रही है। यही कारण है कि पुलिस ने याकूब कुरैशी और उसके परिवार का अपराधिक रिकार्ड भी निकाल कर मुकदमों में कार्रवाई का ब्योरा पेश करते हुए जिलाधिकारी दीपक मीणा से आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर लगाने के लिए अनुमति मांगी है। खरखौदा पुलिस की ओर से फाइल तैयार कर सीओ रुपाली राय को भेजी गई थी। उन्होंने एसपी देहात से संस्तुति कराने के बाद फाइल को एसएसपी रोहित सजवाण के कार्यालय भेजी है। जहां से अनुमोदन के लिए डीएम के पास फाइल को भेज दिया। एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि डीएम से अनुमति मिलने के बाद फरार याकूब कुरैशी और उनके परिवार पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उसके बाद टीम बनाकर संपत्ति जब्तीकरण की कार्रवाई की जाएगी।