ज्ञानवापी फैसला: अयोध्या मंदिर मस्जिद के पैरोकार का छलका दर्द, बोले ‘ ज्ञानवापी नहीं देंगे,चाहे कुछ हो जाए’

 
Gyanvapi Masjid Case Verdict:

लखनऊ। काशी में ज्ञानवापी को लेकर आये जिला जज की अदालत के फैसले से मुस्लिम पक्ष संतुष्ट नहीं दिखाई दे रहे हैं। जिसको लेकर अब उन्होंने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने की बात कही है। लेकिन इस बीच अयोध्या मंदिर-मस्जिद विवाद के पैरोकार रहे हाजी महबूब ने अपना पुराने दर्द बयां किया है। उन्होंने इस फैसले पर चेतावनी भी दे दी है। उन्होंने कहा कि अगर अयोध्या की तरह काशी में कुछ हुआ तो यह सही नहीं होगा। इसके मायने तो अब यही लगाए जा रहे हैं कि मुस्लिम समाज संवैधानिक प्रक्रिया को मानने के लिए अब तैयार नहीं हैं। 

दरअसल काशी के ज्ञानवापी मामले की कोर्ट में सोमवार को सुनवाई थी। जिसमें कोर्ट ने हिंदू के पक्ष फैसला सुनाया तो वहीं मुस्लिम पक्षकारों की दलील को खारिज कर दिया था। अब मुस्लिम पक्ष का कहना है कि वो ऊपरी अदालत में जाएंगे। वहीं अब इस मामले पर बाबरी मस्जिद के पूर्व पैरोकार हाजी महबूब में विवादित बयान दिया है। हाजी महबूब ने कहा है कि ज्ञानवापी मस्जिद है और वह मस्जिद ही रहेगी। हम लोग फैसले के खिलाफ ऊपर तक जाएंगे। इतना ही नहीं हाजी महबूब ने यहां तक कहा कि काशी में जो हो रहा है वह बहुत ही गलत हो रहा है। हाजी महबूब ने कहा कि अयोध्या का मामला दूसरा था। हम लोगों ने खामोशी बरती और अदालत का फैसला है मामला खत्म हो गया। अयोध्या के मसले पर हम लोगों ने कोई गंभीरता भी नहीं दिखाई थी। हाजी महबूब आगे कहते हैं कि अगर ज्ञानवापी के मामले में ऐसा हुआ तो बहुत बुरा होगा। उन्होंने इतना ही नहीं कहा बल्कि विवादित बयान देते हुए यह भी कहा कि आरएसएस वाले साथ हैं तो हुकूमत सब कुछ गलत का सही करा रही है। इससे मुल्क में खून खराबा के अलावा कुछ नहीं होने वाला है।