Gyanvapi Case: ज्ञानवापी प्रकरण में अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी को झटका,मुकदमे की पैरवी कर रहे अधिवक्ता का निधन

 
Gyanvapi Case

लखनऊ। ज्ञानवापी प्रकरण में मां श्रृंगार गौरी व अन्य देव विग्रहों की नियमित पूजा मामले में प्रतिवादी अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी को बड़ा झटका लगा है। कमेटी की ओर से मुकदमा की पैरवी कर रहे मुख्य अधिवक्ता अभय नाथ यादव का देर रात हार्ट अटैक से निधन हो गया। रविवार की देर रात उनको मकबूल आलम रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां पर उन्होंने अंतिम सांस ली। अधिवक्ता यादव के परिजनों के अनुसार उन्हें रात में सीने में दर्द और बेचैनी की परेशानी हुई थी। जिसके बाद उनको अस्पताल ले जाया गया। जहां पर चिकित्सकों के अथक प्रयास के बाव भी उन्हें नहीं बचाया जा सका। अधिवक्ता अभय नाथ यादव की उम्र 60 साल की थी। अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली है। पांडेयपुर नई बस्ती के रहने वाले अधिवक्ता अभय नाथ यादव का आज सोमवार को सुबह मणिकर्णिका घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। उनके परिवार में एक बेटा और दो बेटियां हैं। उनके निधन पर बनारस बार एसोसिएशन और सेंट्रल बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं के अलावा पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने शोक संवेदनाएं व्यक्त की हैं।

Read also: Petrol-Diesel Price Today: जानिए आज अगस्त के पहले दिन क्या है शहर में पेट्रोल डीजल का भाव

ज्ञानवापी प्रकरण में अधिवक्ता अभय नाथ यादव के प्रतिद्वंद्वी वादी हिंदू पक्ष के अधिवक्ता मदन मोहन यादव ने भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी। मदन मोहन यादव ने बताया कि पिछले दिनों जिला जज की अदालत में दलील पेश करने के बाद, अधिवक्ता अभय नाथ यादव ने उनसे रुद्राक्ष की माला दिलाने की इच्छा जताई थी। जिस पर उन्होंने अभय नाथ को रुद्राक्ष की माला दिलवाई थी। ज्ञानवापी प्रकरण में चार अगस्त को सुनवाई होनी थी। प्रकरण में दोनों पक्ष अपनी-अपनी दलील पेश कर चुके हैं। वादी हिंदू पक्ष की दलील पर अब अंजुमन की ओर से अधिवक्ता अभय नाथ यादव को बहस करनी थी। इससे पूर्व 25 जुलाई को होने वाली सुनवाई अधिवक्ता कमलाकांत पटेल के निधन के कारण टल गई थी।