कम बारिश के बावजूद भी किसानों का नहीं होने दिया जाएगा नुकसान : सीएम योगी

 
 सीएम योगी 

लखनऊ। देशभर में मानसून के कारण कई स्थानों पर बहुत अधिक बारिश हो चुकी है। लेकिन उप्र में मानसून ने अभी तक वो तेवर नहीं दिखाए हैं जैसे कि पिछले सालों में दिखाई देते थे। इस बार मानसूनी बारिश के हालात प्रदेश में ठीक नहीं हैं। इस बार यूपी में बारिश की स्थिति काफी कमजोर है। इसे लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने बारिश और फसल बुवाई की समीक्षा बैठक की। जिसमें उन्होंने कहा था कि प्रदेश में कम बारिश होने पर भी स्थिति नियंत्रण में है। सीएम ने यह भी कहा कि वो किसानों का किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होने देंगे।

Read also: ED Raids National Herald: बढ़ेंगी सोनिया-राहुल की मुश्किलें, नेशनल हेराल्ड के दफ्तर पर ED का छापा

समीक्षा के दौरान सीएम ने प्रदेश के सभी जिलों की  निगरानी रखने के निर्देश दिए। बताया जाता है कि बारिश के सटीक आंकलन के लिए ब्लाक स्तर पर रेन गेज लगेंगे। जिससे समय से सभी प्रकार की जानकारी मिलेगी। प्रदेश के 15 जिलों में बारिश कम होने से यहां पर बुवाई पर भी असर पड़ा है। ऐसे में सीएम ने इन जिलों के हालातों पर नजर रखने को कहा है। मौसम विभाग के अनुसार अब अगस्त और सितम्बर में प्रदेश में सामान्य बारिश का दौर चलेगा। सीएम ने समीक्षा बैठक में इसको ध्यान में रखते हुए कृषि, राहत,सिंचाई और राजस्व आदि विभागों को अलर्ट रहने को कहा है। बता दें कि 31 जुलाई तक प्रदेश में 191.8 मिमी बारिश हुई है। जबकि इससे पहले 2021 में यह 353.65 मिमी और 2020 में 349.85 मिमी के सापेक्ष काफी कम है। जिन जिलों में खास ध्यान रखने को बोला गया है उनमें अमरोहा,कानपुर, गोंडा, मुरादाबाद, बहराइच, मऊ, संतकबीरनगर, बस्ती, कौशाम्बी, गाजियाबाद, श्रावस्ती, बलिया, शाहजहांपुर, गौतमबुद्ध नगर, जौनपुर, कुशीनगर, फर्रुखाबाद, कानपुर देहात और रामपुर हैं। इन जिलों में सामान्य की तुलना में मात्र 40 फीसदी बारिश हुई है। ऐसे में सीएम योगी ने इन जिलों पर विशेष ध्यान रखने को कहा है।