NIA Raid In Deoband: देवबंद दारुल उलूम से हिरासत में लिए गए युवक को आठ घंटे की पूछताछ के बाद एनआईए ने छोड़ा

 
NIA Raid In Deoband

देवबंद। एनआईए ने देवबंद में गत रविवार सुबह दारुल उलूम के अफ्रीकी मंजिल में छापा मारकर एक संदिग्ध युवक को उठाया था। एनआईए ने युवक से पूरे आठ घंटे तक पूछताछ की उसके बाद उसे छोड़ दिया गया। लेकिन एनएआई की देवबंद दारूल उलूम में छापेमारी के बाद से दूसरे अन्य छात्रों में दहशत का माहौल है। खासकर वो छात्र जो विदेश से यहां आकर पढ़ रहे हैं।  बता दें कि जिस युवक को एनआईए की टीम ने देवबंद से हिरासत में लिया था उसका नाम उमर फारूख है। वह कर्नाटक का रहने वाला है और दारुल उलूम देवबंद में रहकर कक्षा दौर-ए-हदीस की पढ़ाई कर रहा है। फारूख दारुल उलूम के हॉस्टल अफ्रीकी मंजिल के कमरा नंबर 25 में अपने अन्य साथी छात्रों के साथ रहता है। गत रविवार को सुबह छह बजे एनआईए और यूपी एटीएस की टीम ने स्थानीय पुलिस को साथ लेकर अफ्रीकी मंजिल में छापेमारी की थी। जहां से वो उमर फारुख को अपने साथ ले गए थे।

Read also: Haridwar News: दवा कंपनियों पर एसटीएफ और नारकोटिक्स विभाग का छापा,करोड़ों रुपये के रेमडेसिविर इंजेक्शन बरामद

इस दौरान एनआईए की टीम कमरे से उसके कुछ कागजात और पुस्तकें कब्जे में लेकर अपने साथ ले गई थी। एनआईए द्वारा दारुल उलूम छात्र को हिरासत में लिए जाने के बाद पूरे देवबंद परिसर में हड़कंप मच गया था। एनआईए ने हिरासत में लिए गए युवक को आठ घंटे की कड़ी पूछताछ के बाद वापस देवबंद में छोड़ दिया। सहारनपुर एसएसपी डॉ. विपिन ताड़ा ने बताया कि एनआईए ने संदिग्ध को पूछताछ के लिए उठाया था। उसको पूछताछ के बाद छोड़ दिया है। दारुल उलूम के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी ने बताया कि शक की बुनियाद पर एनआईए अधिकारी छात्र को साथ ले गए थे। पूछताछ में उन्हें कुछ नहीं मिला तो उसे वापस संस्था में छोड़ गए। चर्चा है कि स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर एनआईए ने कर्नाटक, महाराष्ट्र, बिहार के अलावा उप्र सहित कई राज्यों में छापेमारी की थी। हालांकि उत्तर प्रदेश में एनआईए की कार्रवाई सिर्फ देवबंद में तक ही सीमित रही थी।