OSD Motilal Dies: मुख्यमंत्री योगी के ओएसडी की सड़क हादसे में मौत, पत्नी गंभीर

 
OSD Motilal dies in road

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ओएसडी की एक सड़क हादसे में मौत हो गई। सीएम योगी के ओएसडी का नाम मोतीलाल सिंह हैं और वो मुख्यमंत्री योगी के गोरखनाथ मंदिर कैंप कार्यालय प्रभारी थे। सीएम ओएसडी मोतीलाल सिंह की मृत्यु गुरुवार देर रात सड़क हादसे के दौरान हुई। सड़क दुर्घटना में ओएसडी मोतीलाल सिंह की पत्नी गंभीर रूप से घायल हैं। सड़क दुर्घटना गुरुवार की रात एक बजे के आसपास गोरखपुर-लखनऊ फोरलेन पर बस्ती के खजौली चौकी के पास हुई। जहां पर मोतीलाल सिंह की पत्नी को मेडिकल कालेज गोरखपुर में भर्ती किया गया। मोतीलाल सिंह अपनी पत्नी के साथ स्कॉर्पियो कार से गोरखपुर से लखनऊ जा रहे थे। बताया जाता है कि इस दौरान चालक को नींद आ गई और कार अनियंत्रित होकर सड़क किनारे गड्ढे में गिर गई। जिसमें दोनों पति-पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों को गोरखपुर स्थित गोरखनाथ चिकित्सालय लाया गया। जहां मोतीलाल सिंह को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। मोतीलाल सिंह नगर निगम में अपर नगर अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त थे। इसके बाद वो गोरखनाथ मंदिर में सेवा दे रहे थे। 

Read also: BJP Jat Politics: भाजपा के इतिहास में किसी जाट नेता को पहली बार बनाया प्रदेश अध्यक्ष, केंद्र से लेकर राज्य तक जाटों का दखल

मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय और जनता दर्शन से लेकर मंदिर में आने वाली सभी समस्याओं और शिकायतों के निस्तारण में वह महत्वपूर्ण भूमिका निभाते थे। मोतीलाल सिंह के निधन की जानकारी मिलते ही मंदिर में सुबह से ही भीड़ इकट्ठा होने शुरू हो गई। मुख्यमंत्री घटना के संबंध में हर पल की जानकारी लेते रहे।  बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ओएसडी मोतीलाल सिंह बूढ़नपुर आजमगढ़ के रहने वाले थे। वो नगर निगम में अपर आयुक्त के तौर पर तैनाती के दौरान गोरखनाथ मंदिर और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जुड़े थे। उनकी प्रशासनिक कार्यक्षमता को देखते हुए मुख्यमंत्री ने उन्हें रिटायर होने के बाद 2017 में गोरखनाथ मंदिर में स्थापित मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय का प्रभारी बना दिया था। उसके बाद उन्हें ओएसडी का पदनाम दिया गया। मोती लाल गोरखपुर में चौरी चौरा और बांसगांव में एसडीएम की जिम्मेदारी बखूबी संभाल चुके थे। वर्तमान में वह विश्वविद्यालय चौराहे के पास स्थित सरकारी आवास में पत्नी के साथ रह रहे थे।