Abbas Ansari Bail: बाहुबली मुख्तार अंसारी के विधायक बेटे अब्बास अंसारी की जमानत हाईकोर्ट ने की खारिज

 
Abbas Ansari Bail

लखनऊ। प्रयागराज हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने आज अब्बास अंसारी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी। अवैध हथियार मामले में विधायक अब्बास अंसारी ने याचिका दायर की थी। शूटिंग के हथियारों की आड़ में अवैध कारतूस, हथियार रखने का अदालत ने संज्ञान लेकर याचिका ख़ारिज की है। अब्बास अंसारी की ओर से प्रांजल कृष्ण और सरकार की तरफ़ से विनोद शाही के अलावा सरकारी वकील अनुराग वर्मा ने अपना पक्ष रखा। हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने अब्बास अंसारी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज को आज खारिज कर दिया है।  गौरतलब है कि लंबे समय से फरार चल रहे मऊ सदर सीट से सुभासपा विधायक अब्बास अंसारी पर कानून का शिकंजा अब पूरी तरह से कस गया है। माफिया मुख्तार अंसारी के विधायक बेटे अब्बास के दर्जी मुहल्ला स्थित पैतृक आवास पर लखनऊ की महानगर कोतवाली की पुलिस ने कुर्की का नोटिस चस्पा किया है। मालूम हो कि माफिया व पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी के विधायक बेटा अब्बास अंसारी लखनऊ पुलिस करीब डेढ़ महीने से तलाश रही है। पुलिस ने ताबड़तोड़ 135 ठिकानों पर दबिश दी लेकिन विधायक पकड़ से बाहर है। पुलिस उसकी परछाई तक का पता नहीं लगा सकी है। 

लखनऊ कमिश्नरेट के महानगर कोतवाली पुलिस टीम सब इंस्पेक्टर पुष्पराज सिंह के नेतृत्व में मुहम्मदाबाद कोतवाली पुलिस को साथ लेकर दर्जी मुहल्ला स्थित अब्बास अंसारी के आवास पर पहुंची। जहां पर मुनादी कराकर धारा 82 की नोटिस चस्पा की गई। 
मौके पर पुलिस अधिकारी ने लोगों के बीच घोषणा भी की। जिसमें अब्बास अंसारी के खिलाफ एसीजेएम कोर्ट लखनऊ ने नोटिस जारी किया है। अब्बास को एक महीने का समय दिया है। 26 सितंबर तक यदि अब्बास हाजिर नहीं होता तो खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की जाएगी। महानगर थाने के इंस्पेक्टर अशोक कुमार सिंह ने 2019 में अब्बास अंसारी के खिलाफ शस्त्र लाइसेंस दुरुपयोग का मुकदमा दर्ज किया था। पेशी से गायब रहने पर अदालत ने गैरजमानती वारंट जारी किया था। इसके बाद  पुलिस ने गिरफ्तारी के लिए यूपी के शहरों सहित दूसरे राज्यों में दबिश दी। लेकिन अब्बास को पुलिस आज तक पकड़ नहीं सकी।

Read also: बड़ा अपडेट: नीट पीजी कांउसलिंग में दखल से सुप्रीम कोर्ट ने किया इंकार, मिली छात्रों को बड़ी राहत

हताश पुलिस ने विधायक को भगोड़ा घोषित करने के लिए अर्जी दी। जिसे अदालत ने खारिज करते हुए आदेश दिया था कि विधायक को 25 अगस्त तक गिरफ्तार कर पेश किया गया। गत गुरुवार को अदालत की मोहलत खत्म हो गई है।
इसके बाद महानगर इंस्पेक्टर केशव कुमार तिवारी ने अदालत में अर्जी दाखिल की है। अदालत ने सुभासपा विधायक अब्बास अंसारी को भगोड़ा घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस गाजीपुर के मोहम्मदाबाद थानाक्षेत्र स्थित विधायक के पैतृक गांव यूसुफपुर दर्जी टोला पहुंचीं। जहां पर अदालत के आदेशा पर डुगडुगी पिटवाकर भगोड़ा घोषित करने की कार्रवाई करते हुए आवास पर नोटिस चस्पा किया गया।