Maharashtra News: नक्सलियों की धमकी के बाद उद्धव ठाकने ने शिंदे को नहीं दी जेड प्लस सुरक्षा

 
Maharashtra News

मुंबई। शिवसेना के बागी विधायकों ने आरोप लगाया कि राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने नक्सली धमकी के बाद भी एकनाथ शिंदे को'जेड प्लस'सुरक्षा नहीं प्रदान की थी। हालांकि ठाकरे गुट ने बागी विधायकों के इन आरोपों का खंडन किया है।
इस समय महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे हैं। उद्धव ठाकरे सरकार में एकनाथ शिंदे शहरी विकास मंत्री होने के अलावा नक्सल प्रभावित गढ़चिरौली के प्रभारी मंत्री भी थे। पुलिस के मुताबिक फरवरी 2022 में गढ़चिरौली में पुलिस कार्रवाई में 26 नक्सली मारे जाने के दो माह बाद उन्हें एक धमकी भरा पत्र मिला था। शिवसेना के दो विधायक और शिंदे गुट नेता सुसाह कांडे और पूर्व गृहराज्य मंत्री शंभूराज देसाई ने बताया कि नक्सलियों की धमकी के बाद भी ठाकरे ने निर्देश दिया कि शिंदे की सुरक्षा को अपग्रेड नहीं किया जाएगा।

Read also: तालिबानी सरकार का फरमान : झूठी आलोचना करने पर मिलेगी मौत की सजा

शिंदे गुट नेता सुसाह कांडे ने कहा कि पुलिस ने ठाकरे और तत्कालीन गृहमंत्री को सूचित किया था। नक्सली शिंदे को मारने के लिए मुंबई आए थे। कांडे ने बताया कि धमकी के बावजूद उन्हें सुरक्षा प्रदान नहीं की। जबकि हिंदुत्व विरोधी लोगों को सुरक्षा प्रदान की गई। देसाई ने बताया कि उन्हें ठाकरे का फोन आया कि क्या गृह विभाग ने शिंदे की सुरक्षा बढ़ाने के बारे में बैठक की है। उन्होंने दावा किया कि उद्धव ठाकरे से कहा कि उस दिन एक बैठक हो रही थी। उसी दौरान उनको स्पष्ट निर्देश दिए गए कि सुरक्षा में सुधार नहीं किया जा सकता है।