Pakistan Economic Crisis: पाकिस्तान के हालात और हुए खराब,पीएम शहबाज की जनता को चेतावनी

 
PM Shehbaz Sharif making desperate bid to get Pakistan out of FATF's Grey List

इस्लामाबाद। आर्थिक हालात से जूझ रहे पाकिस्तान की स्थिति और खराब होती जा रही है। पाक  प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने देश की जनता को चेतावनी दी है कि वो हर हालात से निपटने के लिए तैयार रहे। देश में आने वाले दिन और भी बुरे हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुल्क में मौजूदा आर्थिक संकट और अधिक गहरा सकता है। मुल्क को और बुरे दिन देखने पड़ेंगे। बता दें कि एक दिन पहले इस्लामाबाद और आईएमएफ के बीच छह अरब डॉलर के रुके सहायता पैकेज को फिर से देने के लिए समझौता हुआ। पाक की नई सरकार ने आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए कई कदम उठाए हैं। कुछ दिनों पहले पाक सरकार ने पेट्रोल के दाम में 30 रुपए प्रति लीटर की वृद्धि की थी। 

Read also: चीनी सार्वजनिक सुरक्षा मंत्री ने इस्लामाबाद सुरक्षा वार्ता में दिया भाषण


पार्टी सांसदों की बैठक को जानकारी देते हुए पीएम शाहबाज शरीफ ने कहा कि पिछली इमरान सरकार के कारनामों के कारण आईएमएफ अब पाकिस्तान की किसी भी बात पर भरोसा करने की स्थिति में नहीं है। उन्होंने कहा कि आईएमएफ अब ऋण देने से पहले अपनी समझौते की सभी शर्तों को पूरा करने की जिद कर रहा है। पीएम शाहबाज ने सांसदों और देश की जनता से कहा कि यह पाकिस्तान के लिए एक कठिन दौर है। ऐसी स्थिति से उबरने के लिए हमको मिलकर प्रयास करने होंगें। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को आगे चलकर और कठिन समस्याओं का सामना करना होगा। इसके लिए जनता और सांसदों को तैयार रहना चाहिए। पीएम शहबाज ने पूर्व पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान को देश की अर्थव्यवस्था को दिवालियेपन तक पहुंचाने के लिए जिम्मेदार करार दिया। उन्होंने कहा कि इमरान खान ने अपने स्वार्थ के आगे देश को गर्त में डुबो दिया। 

Read also: इस्लामाबाद हाईकोर्ट इमरान, पूर्व मंत्रियों को एग्जिट कंट्रोल लिस्ट में डालने की याचिका पर सुनवाई करेगा

शरीफ ने कहा कि उनकी सरकार ने तेल की कीमतों पर टैक्स के लिए अंतरराष्ट्रीय ऋणदाताओं के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए। लेकिन इसका पालन करने के उन्होंने मना कर दिया है। माना जा रहा है कि वैश्विक ऋणदाता अगले माह पाकिस्तान को ऋण दे पाएगा। आईएमएफ के साथ हुई डील से पाकिस्तान को एशियन डेवलपमेंट बैंक,वर्ल्ड बैंक,  इस्लामिक देशों से उधार कर्ज लेने में आसानी होगी।