ED Raids National Herald: बढ़ेंगी सोनिया-राहुल की मुश्किलें, नेशनल हेराल्ड के दफ्तर पर ED का छापा

 
ED Raids National Herald

एनफोर्समेंट डाइरेक्टरेट यानि ED की सरगर्मियाँ पूरे शबाब पर हैं. छापेमारी, गिरफ़्तारी का न रुकने वाला सिलसिला जारी है और संयोग से ED की सभी सरगर्मियों का शिकार विपक्ष से जुड़े लोग ही बन रहे हैं. ED की ताज़ा रेड आज कथित नेशनल हेराल्ड मनी लांन्ड्रिंग मामले में हुई. राहुल गाँधी और सोनिया गाँधी से पचासों घंटे पूछताछ करने के बाद ED की टीम ने आज नेशनल हेराल्ड के दफ्तर समेत कई ठिकानों पर छापेमारी की है. बताया जा रहा है कि ED की टीम ने कम से कम 12 ठिकानों पर रेड मारी है.

ED की टीम इन ठिकानों पर कथित मनी लॉन्ड्रिंग के सबूत तलाश रही है. ED अधिकारीयों की एक टीम ने मध्य दिल्ली के आईटीओ बहादुर शाह जफर मार्ग स्थित ‘हेराल्ड हाउस’ पहुंची. इसका एड्रेस एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (AJL) के नाम पर रजिस्टर्ड है, जो नेशनल हेराल्ड, नवजीवन और क़ौमी आवाज़ अख़बारों का प्रकाशन करता है. अधिकारियों ने बताया कि 'प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट  की आपराधिक धाराओं के तहत यह तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.

Read also: हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव: सेब का दाम अब निजी कंपनियां नहीं कमेटी तय करेगी

गौरतलब है कि ED ने हाल ही में सोनिया गांधी और राहुल गांधी से नेशनल हेराल्ड मनी लांड्रिंग मामले में पूछताछ की थी. दोनों नेताओं से यह पूछताछ कई दिनों तक चली थी, इस दौरान कांग्रेस पार्टी की ओर से पूरे देश में काफी विरोध प्रदर्शन भी किये गए थे. बता दें कि ED द्वारा पिछले साल PMLA  के तहत नए सिरे से आपराधिक मामला दर्ज किए जाने के बाद सोनिया और राहुल से पूछताछ की गई थी.जाँच एजेंसी ने यह मामला निचली अदालत द्वारा इनकम टैक्स विभाग की ओर से यंग इंडियान के खिलाफ की गई जांच पर संज्ञान लेने के बाद दर्ज किया था. इनकम टैक्स विभाग ने साल 2013 में भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की निजी शिकायत पर जांच की थी. बता दें कि सोनिया और राहुल गांधी यंग इंडियन के प्रवर्तकों में शामिल हैं और दोनों के पास 50 प्रतिशत से ज़्यादा हिस्सेदारी है.