राजभवनों का नाम भी कर्त्तव्यभवन होना चाहिए: थरूर

 
Shashi Tharoor

दिल्ली के राजपथ का नाम बदलकर कर्तव्य पथ करने के बाद अब हर उस जगह को कर्त्तव्य से जोड़कर रखने की बातें लोग करने लगे हैं, यह अलग बात कि ऐसी बातें कटाक्ष में कही जा रही है, अब कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सरकार से पूछा है कि क्या हर प्रदेश के राजभवनों का नाम बदलकर कर्तव्य भवन नहीं रख देना चाहिए। थरूर ने आगे जाते हुए कहा कि राजस्थान का नाम भी अगर कर्त्तव्यस्थान हो जाय तो कितना अच्छा लगेगा। 

इससे पहले तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने भी अपने ट्वीट में सवाल किया था क्या सभी राजभवनों को अब कर्तव्यभवन माना जायेगा? महुआ ने शनिवार को एक दूसरे ट्वीट में मज़ाक उड़ाते हुए कहा था कि पश्चिम बंगाल के नए भाजपा प्रभारी बिहार के पूर्व मंत्री मंगल पांडे कर्तव्यधानी (राजधानी) एक्सप्रेस से सियालदह तक के सफर में कर्तव्य कचौरी का आनंद ले सकते हैं, उसके बाद कर्त्तव्यभोग (राजभोग) का ज़ायका ले सकते हैं।  

बता दें कि केंद्र सरकार ने राजपथ का नाम बदल कर कर्तव्यपथ कर दिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने 8 सितम्बर को सेंट्रल विस्टा के साथ इसका भी उद्घाटन किया और कहा कि गुलामी की पहचान अब बदल गयी है. NDMC ने बाकायदा इस नए नामकरण की मंज़ूरी दी. राजपथ दरअसल राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक का रास्ता है, इसी राजपथ पर ही हर साल गणतंत्र दिवस पर परेड निकलती है. मगर अब कर्तव्यपथ पर निकलेगी।