AICC दफ्तर में घुसी पुलिस, Congress करेगी राजभवनों का घेराव

कांग्रेस कार्यालय में घुस कर कार्यकर्ताओं और नेताओं को मारना पीटना धैर्य की सभी हदें पार कर गई है। सुरजेवाला ने बताया है कि कल कांग्रेस पूरे देश में राजभवनों का घेराव करेगी इसके अलावा 17 जून को हर जिला मुख्यालय पर विरोध जताया जायेगा।  
 
AICC Office

नेशनल हेराल्ड मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड के सांसद राहुल गांधी जहाँ आज एक बार फिर ED अधिकारियों के सवालों का जवाब दे रहे हैं वहीं दिल्ली पुलिस कांग्रेस मुख्यालय का गेट तोड़कर जबरन घुस गयी , उसपर कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के बदसलूकी का आरोप है, इस बारे में उन पत्रकारों से पुलिस ने बदतमीज़ी कि जो यह सवाल पूछ रहे थे कि किसके आदेश पर एक राजनीतिक पार्टी के कार्यालय में घुसे। वहीँ कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेता दिल्ली पुलिस की कार्रवाई से नाराज हैं और दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारीयों पर कांग्रेस दफ्तर के अंदर घुसने और हाथापाई का आरोप लगाया है।

Also read: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी से आज लगातार तीसरे दिन भी ईडी करेगी पूछताछ

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला एक प्रेस वार्ता में  कहा कि दिल्ली पुलिस, बीजेपी, मोदी सरकार अब गुंडागर्दी पर उतर आई है, कांग्रेस कार्यालय में घुस कर कार्यकर्ताओं और नेताओं को मारना पीटना धैर्य की सभी हदें पार कर गई है। सुरजेवाला ने बताया है कि कल कांग्रेस पूरे देश में राजभवनों का घेराव करेगी इसके अलावा 17 जून को हर जिला मुख्यालय पर विरोध जताया जायेगा।  

बता दें कि आज लगातार तीसरे दिन राहुल गांधी को ED ने अपने दफ्तर बुलाया, सुबह 11 बजे वह ईडी दफ्तर पहुंचें, इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं का प्रदर्शन जारी रहा, खासकर महिला विंग ने आज मोर्चा संभाला। पुलिस ने बहुत से महिला कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया, वहीँ कांग्रेस का आरोप है कि पुलिस ने महिलाओं का अपमान किया है उनके साथ असभ्य व्यवहार किया है, उन्हें सड़कों पर घसीटा गया है। वहीँ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और अधीर रंजन चौधरी आज संसद में धरने पर बैठे।

Also read: कांग्रेसियों का ईडी आफिस के सामने प्रदर्शन सड़क पर जलाए टायर

सुरजेवाला ने कहा कि दिल्ली पुलिस को चुल्लू बाहर पानी में डूब मर जाना चाहिए यह झूठ बोलते हुए कि वह कांग्रेस नेताओं का सम्मान कर रही है। प्रमोद तिवारी का सिर फट गया, वेणुगोपाल की पसलियों में फ्रैक्चर हो गया, चिदंबरम का चश्मा फेंक दिया गया, गोहिल को धकेल दिया गया, महिला सांसद को चार पुलिसकर्मी हाथ पैर पकड़कर घसीटते हुए ले गए, अगर यही सम्मान है तो फिर इसकी नई परिभाषा गढ़नी पड़ेगी।