Drug Free India: केंद्रीय गृहमंत्री की मौजूदगी में एनसीबी ने नष्ट किया तीस हजार किलो नशीला पदार्थ

 
Drug Free India

चंडीगढ़। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की निगरानी में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने चंडीगढ़ से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से तीस हजार किलोग्राम से अधिक जब्त की दवाओं को चार स्थानों पर नष्ट किया है। इस दौरान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा यह नशीले पदार्थों की तस्करी समाज के लिए बड़ा खतरा है। किसी समृद्ध राष्ट्र को नशीले पदार्थों की तस्करी के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति अपनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमको नशीले पदार्थों की तस्करी पर सख्ती के साथ रोक लगाकर युवा पीढ़ी को इस दलदल से बचाना है। एनसीबी ने एक जून से मादक पदार्थों के निपटान के अभियान की शुरुआत की थी। उसके बाद से 29 जुलाई तक 11 राज्यों में 51,217 किलोग्राम से अधिक नशीले मादक पदार्थों को नष्ट किया जा चुका है। 
‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मनाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर एनसीबी ने आजादी के 75 साल पूरे होने के मौके पर 75 हजार किलोग्राम मादक पदार्थ नष्ट करने का संकल्प लिया।

Read also: Delhi Liqour News: केंद्र ने बिगाड़ा शराब के शौकीनों का मूड,एक अगस्त से दिल्ली में महंगी होगी शराब

शनिवार को 30,468.784 किलोग्राम से अधिक नशीला मादक पदार्थों के निपटान के बाद अभी तक कुल लगभग 81,686 किलोग्राम तक मादक पदार्थ नष्ट किया जा चुका है। यह एनसीबी के लक्ष्य से अधिक होगा। नशा मुक्त भारत की लड़ाई के अभियान के तहत यह एक  बड़ी उपलब्धि होगी। सम्मेलन में पहली बार गृह मंत्री, राज्यों के मुख्यमंत्री और मादक पदार्थों से संबंधित एजेंसियों के प्रतिनिधि ​​मंच पर मौजूद थे। यह सम्मेलन देश को नशे के खतरे से मुक्त कराने के मोदी सरकार के संकल्प को दर्शाता है। सम्मेलन के बाद, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्रियों के अलावा पंजाब के राज्यपाल सहकेंद्र शासित प्रदेश के प्रशासक, पंजाब, हरियाणा,चंडीगढ़, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल,हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिवों एवं पुलिस महानिदेशकों से मिलेंगे।