Weather Update Today: मौसम विभाग के अनुमान को फेल कर रहा मानसून,गर्मी और उमस से हुआ बुरा हाल

 
Weather Update

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में मानसून की दस्तक को 10 दिन से अधिक हो गए हैं। लेकिन, इसके बाद भी बारिश होने का नाम नहीं ले रही है। दिल्ली-एनसीआर में मौसम काफी उमस और गर्मी भरा है। इसी बीच मौसम विभाग के सभी पूर्वानुमान फेल हो रहे हैं। बीते दस दिन से लोग उमस भरी गर्मी से परेशान हैं और बारिश के लिए तरस रहे हैं। मौसम वैज्ञानियों के अनुसार इसके पीछे उड़ीसा में बने निम्न दबाव वाले क्षेत्र को जिम्मेदार बताया जा रहा है। 

Read also: Weather Update: 20 जून से मानसून Western UP और NCR में दस्तक देगा, आज चलेगी तेज हवाएं


नई दिल्ली के आधिकारिक मौसम केंद्र सफदरजंग पर गत 10 दिन में मात्र 2.6 मिमी बारिश रिकार्ड की गई है। एक जून से मानसून मौसम शुरू होने के बाद 126.7 मिमी बारिश दर्ज हुई है। जबकि सामान्य तौर पर 144.3 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई है। हालांकि, दर्ज की गई बारिश में 117.2 मिमी सिर्फ 24 घंटे में एक जुलाई को हुई थी। इसके बाद से मौसम विभाग ने एक जुलाई से ऑरेंज अलर्ट जारी किया था। जिसके बाद भारी बारिश की चेतावनी जारी हुई थी। लेकिन बारिश का कहीं नामोनिशान रही दर्ज किया गया।

मौसम विभाग ने आने वाले छह दिनों में बारिश का यलो अलर्ट जारी किया था। लेकिन गत एक जुलाई से तीन जुलाई के बीच सिर्फ दो मिमी बारिश ही दर्ज हो सकी। मौसम विभाग ने इसके बाद चार व पांच जुलाई का यलो अलर्ट और छह जुलाई का ऑरेंज अलर्ट जारी किया था। जिसे बढ़ाकर सात जुलाई कर दिया गया था। दिल्ली-एनसीआर के लोग बारिश का इंतजार करते हुए तरस गए हैं। मौसम विभाग ने नौ व 10 जुलाई को यलो अलर्ट जारी किया था। लेकिन बारिश के लिए लोगों का इंतजार अभी भी बना हुआ है। 

Read also: Best Monsoon Places: मानसून में बना रहे घूमने का प्लान तो ये जगहे है बेस्ट!


शुष्क मौसम के लिए विशेषज्ञों ने मानसून की ट्रफ को मध्य भारत की ओर बढ़ने का जिम्मेदार बतया है। जो कि ओडिशा पर एक कम दबाव क्षेत्र बनने के बाद गुजरात की तरफ बढ़ गई है। कम दबाव वाले क्षेत्र ने ट्रफ रेखा को मध्य भारत की तरफ खींच लिया। जिससे वहां भारी बारिश दर्ज हुई। हालांकि उम्मीद की जा रही है कि कम दबाव का क्षेत्र खत्म होने के बाद मानसून की ट्रफ का पश्चिमी छोर फिर से उत्तर की ओर बढ़ेगा। पिछले 24 घंटों में दक्षिण-पश्चिम राजस्थान के अलावा दक्षिण पाकिस्तान के आसपास के हिस्सों में चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बनने से मानसून ट्रफ दिल्ली और आसपास के इलाकों के पास नहीं पहुंच पाई है।। यह अभी भी दिल्ली के दक्षिण भाग में अटकी हुई है। हवाओं के दिशाओं के कारण हरियाणा, पंजाब में बारिश हुई है। इसके लिए ऊपरी स्तर पर पश्चिमी हवाएं और निचले स्तर में पूर्वी हवाएं जिम्मेदार बताई जा रही है।