Twin Tower Noida: केरल के मराडू की ट्विन टावरों के आसपास रहने वालों को सलाह, कहीं हमारी तरह ना हो हाल इसलिए ले कानूनी आश्वासन

 
Twin Tower Noida:

नोएडा। ट्विन टावरों के विध्वंस के लिए 24 घंटे से  कम समय बचा है। ऐसे में आसपास सोसायटी के लोगों को ब्लास्ट के बाद होने वाले प्रभाव के बारे में चिंता सता रही  है। लोगों ने शिकायत की है कि विस्फोट के बाद सामने आने वाली चुनौतियों से किस प्रकार निपटा जाएगा। लोगों ने कहा कि इससे हफ्तों तक धूल की मोटी परत जम जाएगी। जिससे लोगों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। सुरक्षा के मद्देनजर अब केरल के मराडू के निवासियों ने ट्विन टावर के आसपास रहने वालो को सलाह दी है कि आप अधिकारियों से सुरक्षित कानूनी आश्वासन जरूर लें। नहीं तो आपलोगों को हमारे तरह नुकसान झेलना होगा।

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने 2020 में तटीय क्षेत्र के नियमों का उल्लंघन करने के बाद केरल में मराडू में स्थित पांच फ्लैट परिसरों को ध्वस्त करने का आदेश दिया था  जिसके बाद 11 जनवरी 2020 को सरकारी एजेंसियों ने तकनीशियनों की मदद से तोड़फोड़ शुरू की और इमारत को गिरा दिया। इस दौरान आसपास के बिल्डिंग को नुकसान पहुंचा था। केरल के मराडू के निवासी 56 वर्षीय सुगुनन अभी तक अधिकारियों के दरवाजे पर गुहार लगा रहे हैं और दो मंजिला घर को हुए नुकसान के लिए मुआवजे की मांग कर रहे हैं। उनके पड़ोस में चार अवैध वाटरफ्रंट अपार्टमेंट में से एक को नियंत्रित विस्फोट करके ध्वस्त कर दिया गया था। उन्होंने कहा कि अल्फा सेरेन ट्विन अपार्टमेंट परिसर के विध्वंस के बाद उनके घर की छत में दरारें दिखाई दीं। इससे 3 लाख रुपये से अधिक का नुकसान हुआ।
बता दें कि नोएडा में सुपरटेक बिल्डर के ट्विन टावर का ध्वस्तीकरण 28 अगस्त यानी कल दोपहर 2:30 बजे महज 12 सेंकेंड में हो जाएगा।

Read also: Uksssc Paper Leak: भर्ती घोटाले के बडे़ आरोपी हाकम सिंह का करीबी केंद्र पाल एसटीएफ ने दबोचा

इससे ठीक 15 मिनट पहले एक्सप्रेसवे पर डायवर्जन व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। नोएडा एक्सप्रेसवे पर ब्लास्ट के बाद धूल हटने तक वाहनों की आवाजाही बंद रहेगी। ट्रैफिक पुलिस ने इसके लिए डायवर्जन प्लान जारी कर दिया। लोग गूगल मैप का इस्तेमाल कर सकेंगे। इस पर ट्विन टावर व एक्सप्रेसवे पर डायवर्जन की व्यवस्था को अपडेट किया है। ट्विन टावर को जोड़ने वाले सभी मार्गों पर डायवर्जन लागू कर दिया है। रविवार सुबह सात बजे से मार्गों पर और सख्ती बरती जाएगी। सात बजे के बाद ट्विन टावर की ओर किसी को नहीं जाने दिया जाएगा। टावर के आसपास की दो सोसाइटी एटीएस विलेज व एमराल्ड कोर्ट में रहने वाले लोगों को बाहर आने की अनुमति होगी।