Henley Passport Index 2022: पासपोट रैंकिंग में भारत 87 वें और पाकिस्तान 109 पायदान पर

 
Henley Passport Index 2022

नई दिल्ली। देश की अंतरराष्ट्रीय ताकत वहां की पासपोर्ट रैंकिंग से परखी और देखी जाती है। पासपोर्ट जारी करने वाली संस्था हेनली एडं पार्टनर्स ने 199 देशों की रैंकिंग जारी की है। जारी रैंकिंग में पाकिस्तान 109वें स्थान है। जबकि 199 देशों में एक बार फिर जापान पासपोर्ट रैंकिंग नंबर वन पर पर है। जबकि अफगानिस्तान इस रैंकिंग में सबसे निचली पायदान पर है। भारत को भी 87 वें स्थान पर संतोष करना पड़ा है। पासपोर्ट रैंकिंग जारी करने वाली संस्था हेनली एंड पार्टनर्स ने 2022 के लिए हेनली पासपोर्ट इंडेक्स जारी है। दुनिया में आतंकवाद की फैक्ट्री बने पाकिस्तान का विश्व में चौथा सबसे कमजोर पासपोर्ट रखने वाला देश बताया गया है। पाकिस्तान की प्रतिष्ठा विश्व में इतनी खराब हो चुकी है कि उसका पासपोर्ट रखने वाले व्यक्ति को मात्र 32 देशों में बिना वीजा के जाने की अनुमति है। 

Read also: Russia Ukraine War Update: रूस ने तेज किया यूक्रेन पर हमला,अमेरिका—ब्रिटेन ने की एंटी टैंक की सप्लाई

पाकिस्तान से बाद आखिरी पायदान में मात्र तीन देश बचते हैं। इनमें सीरिया (110), इराक (111) और अफगानिस्तान (112) पायदान पर हैं। जापान के नागरिक बिना नागरिक वीजा के 193 देशों की यात्रा कर सकते हैं। सूची में जापान के बाद दूसरा नंबर सिंगापुर और दक्षिण कोरिया (192) का है। जर्मनी और स्पेन (190) तीसरे नंबर पर हैं। पासपोर्ट रैंकिंग मामले में भारत 4 पायदान नीचे फिसल है। यह अब 87वें स्थान पर पहुंचा गया है। इसी साल शुरुआत में जारी इंडेक्स में भारत 83 वें पायदान पर था। देश के नागरिक 60 देशों में बिना वीजा फ्री यात्रा कर सकते हैं। भारत के साथ तजाकिस्तान और मौरीटानिया को यही रैंकिंग मिली है। चीन इस मामले में थोड़ा आगे है। उसको रैंकिंग में 69 वां स्थान मिला है। उसका पासपोर्टधारी 80 देशों में बिना वीजा के यात्रा कर सकता है।
जापान के पहले नंबर पर आने की वजह है कि जापानी शांति पसंद होते हैं। लड़ाई झगड़े से दूर रहते हैं। वे बिजनेस या घूमने के मकसद से देश की यात्रा करना पसंद करते हैं।