Unique Cyber Crime: गजब! नकली आईपीएल के जरिए रूस के सटटेबाजों से गुजरात के किसानों ने ठगे करोड़ों

 
Cyber Crime

नई दिल्ली। गुजरात के किसानों ने नकली आईपीएल मैचों के जरिए रूस के सट्टेबाजों से करोड़ो की रकम ठग ली। आन लाइन ठगी का ये नया मामला सामने आया है। जो तक सुनने और पढ़ने में काफी दिलचस्प लग रहा है। अभी तक तेा लोगों को ठगने के ही मामले सामने आते रहते थे। लेकिन अब सट्टे बाज भी ठगे जाने लगे हैं। गुजरात के किसानों के एक ग्रुप ने रूस के सट्टेबाजों को ठगने का ऑनलाइन साइबर अपराध के जरिए अनोखा तरीका तलाश लिया। गुजरात के किसानों के एक ग्रुप ने YouTube पर नकली इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) क्रिकेट टूर्नामेंट की लाइव-स्ट्रीम की।

Read also: बीसीसीआई ने की आईपीएल प्लेऑफ और फाइनल शेड्यूल की घोषणा

इसके बाद पुलिस जब ततक इस पर रोक लगाती तब तक इन्होंने रूसी सटटेबाजों से करोड़ो रुपये ठग लिए। यह नकली टूर्नामेंट गांव के खेत में खेला गया। जिसमें 21 मजदूरों के अलावा बेरोजगार युवकों को असली क्रिकेटरों की नकल करने के लिए 400-400 रुपये दिए। इन लोगों ने आईपीएल की टीमों चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स, मुंबई इंडियंस और गुजरात टाइटंस के खिलाड़ियों जैसी जर्सियां पहनीं। यहां तक कि अंपायर भी मैदान में वॉकी-टॉकी के साथ थे।

इन लोगों ने इस वारदात को अंजाम देने के लिए आधुनिक तकनीक का उपयोग किया। उन्‍होंने तकनीक के उपयोग से मशहूर कमेंटेटर हर्षा भोगले की आवाज की नकल कर ली। किसानों ने मैदान पर पांच एचडी कैमरों और हैलोजन लाइटों का भी उपयोग किया। ये रूसी दर्शकों को बेवकूफ बनाने में कामयाब रहे। इन्‍होंने यूट्यूब पर टूर्नामेंट को दो हफ्ते तक लाइव स्‍ट्रीम किया। इसके बाद एक टेलीग्राम चैनल बना लिया। इसी टेलीग्राम चैनल के जरिए इन लोगों ने रूस के शहरों टवेर, वोरोनिश और मॉस्को में स्थित सट्टेबाजों से पैसे लगवा लिए।

Read also: ओटीटी : विविध दर्शकों तक पहुंच के साथ भारतीय चेहरे भी दिख रहे

पुलिस ने इस गैंग का पर्दाफाश उस दौरान किया जब क्‍वार्टर फाइनल मुकाबलों के लिए रूसी सट्टेबाजों से तीन लाख रुपये का दांव लगवा रहे थे। जानकारी के मुताबिक पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। मेहसाणा के एसओजी इंस्पेक्टर भावेश राठौड़ ने बताया कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टूर्नामेंट की छवि पेश करने के लिए मुख्य आरोपी शोएब दावड़ा ने किराए के खेत में क्रिकेट मैदान तैयार किया। लगभग 20 मजदूरों के अलावा बेरोजगार युवाओं की सेवाएं ली। शोएब ने इन लोगों फर्जी टीम की जर्सी पहनाकर मैच खिलाया। इन सभी ने रूस के सटटेबाजों से कितने ठगे हैं इसकी जानकारी नहीं हो पाई है। वैसे अभी तक करोड़ों रूपये के हेराफेरी का मामला सामने आया है।