गोवा बार विवाद: पवन खेड़ा और जयराम को झटका, हाईकोर्ट ने ट्वीट हाटाने को कहा

 
Goa Bar Controversy

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की 18 वर्षीय बेटी द्वारा गोवा में बार चलाने का मामला अब अदालत तक पहुँच चूका है. कांग्रेस पार्टी के नेताओं पवन खेड़ा और जयराम रमेश ने इस मामले पर स्मृति ईरानी और भाजपा को ज़ोरदार ढंग से घेरा था, न सिर्फ प्रेस कांफ्रेंस कर भाजपा नेता के चाल-चरित्र पर सवाल उठाये थे बल्कि अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर इस मामले में ट्वीट किये थे. बार लाइसेंस विवाद के आरोपों पर स्मृति ईरानी द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए आज दिल्ली हाईकोर्ट ने दोनों कांग्रेस नेताओं को अपने ट्विटर अकाउंट से इस बारे किये गए ट्वीट्स को 24 घंटे के अंदर हटाने का निर्देश दिया है, ऐसा न करने पर सोशल मीडिया कंपनी को अपनी तरफ से यह ट्ववीट हटाने का निर्देश जारी किया है. 

बता दें कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी द्वारा दिल्ली हाईकोर्ट ने इस बार और रेस्तरां लाइसेंस विवाद पर याचिका दायर की थी जिसपर कांग्रेस नेता पवन खेड़ा, जयराम रमेश और नेटा डिसूजा के खिलाफ मानहानि मामले में कोर्ट ने समन जारी किया है. केंद्रीय मंत्री ने स्मृति ईरानी ने दो करोड़ रुपये की मानहानि के लिए सिविल सूट दाखिल किया है. इस मामले में अगली सुनवाई अब अगस्त को होगी.

Read also: SSC Scam West Bengal: ईडी की छापेमारी के दौरान अर्पिता की चार कार में गायब कर दिया करोड़ों का कैश

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश और राष्ट्रीय प्रवक्ता खेड़ा ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी जोइश ईरानी पर गोवा में गैरकानूनी रूप से बार चलाने का आरोप लगाया था. दोनों नेताओं ने केंद्रीय मंत्री पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री से उन्हें कैबिनेट से बर्खास्त करने की मांग भी की थी. कांग्रेस के इन आरोपों से स्मृति ईरानी काफी विचलित हो गयी थीं और इन दोनों कांग्रेसी नेताओं को अदालत में देख लेने को कहा था, ईरानी ने कांग्रेस के इन आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा था कि उनकी बेटी एक स्टूडेंट है और वो कोई बार नहीं चलाती। 

स्मृति ईरानी द्वारा भेजे गए कानूनी नोटिस में कहा गया है कि अगर जयराम रमेश और पवन खेड़ा आरोप वापस नहीं लेते और बिना शर्त और स्पष्ट रूप से माफी नहीं मांगते हैं तो वो उनके खिलाफ दीवानी और आपराधिक कार्यवाही शुरू करेंगी. कानूनी नोटिस में कहा गया है कि मेरी बेटी ने कभी भी कोई बार के लिए किसी लाइसेंस का आवेदन नहीं किया है.