JAMMU RALLY: हमने खून पसीने से बनाई है कांग्रेस, कंप्यूटर-ट्वीट और वाट्सएप से नहीं बनी पार्टी

 
JAMMU RALLY:

जम्मू। कांग्रेस से किनारा करने के बाद पूर्व सीएम गुलाम नबी आजाद ने आज जम्मू में एक जनसभा की। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर जमकर जुबानी प्रहार किया। आजाद ने कहा कि वह थ्री इन वन हैं। आजाद ने कांग्रेस को कंप्यूटर पार्टी बताया। पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद आज अपने नए राजनीतिक करिअर की जम्मू से शुरुआत कर दी। उन्होंने आज रविवार को सैनिक फार्म में जनसभा को संबोधित किया। आजाद के समर्थकों ने कार्यक्रम लोगों की भीड़ जुटाकर क्षेत्रीय और राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को अपनी मजबूती का संदेश देने की कोशिश की। जम्मू में आजाद ने कहा कि मेरे दिल की धड़कनों में जम्मू कश्मीर की जनता बसती है। मैंने कांग्रेस की 53 साल सेवा की और कई ओहदें पर रहा हूं। इसमें मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री तक के ओहदे शामिल हैं। अब मैं कुछ नहीं हूं सिर्फ एक इंसान हूं। सब को पता है कि मेरा मजहब इस्लाम है। मेरे कांग्रेस छोड़ने के बाद बड़ी संख्या में प्रदेश के लोगों ने भी इस्तीफे दिए और सहयोग दिया। आप लोगों के संदेश पढ़ने में मुझे एक साल लगेगा।इसके लिए सभी का आभारी हूं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पांच विधायक उनके साथ इस मंच पर हैं। जनसभा को संबोधित करने के दौरान उन्होंने कहा कि कांग्रेसी अब सिर्फ बसों में जेल जाते हैं, वे डीजीपी, कमिश्नरों को बुलाकर अपना नाम लिखवाते हैं और एक घंटे में चले जाते हैं।

Read also: Congress Rahul Gandhi: कांग्रेस का बीजेपी और पीएम मोदी पर हमला, बोले राहुल मैं ईडी से नहीं डरता

यही कारण है कि कांग्रेस विकसित नहीं हो पा रही है। कांग्रेस को हमने खून पसीने से बनाई। यह कंप्यूटर-ट्वीट,वाट्सएप और मैसेज से नहीं बनी। कांग्रेस नई पार्टी के एलान से बौखलाई है। मैं किसी का बुरा नहीं चाहूंगा, मेरे लिए सब बराबर हैं। आजाद ने कहा कि उन्होंने पद में रहने के दौरान किसी समुदाय के साथ भेदभाव नहीं किया। अमरनाथ यात्रा जाने वालों के लिए भगवती नगर में चार मंजिला भवन बनवाया। जो तीन महीने में तैयार करवाया। हज यात्रा हाउस में सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई। देश भर में छह एम्स तैयार करवाए। जो दूसरी हुकूमत नहीं कर पाई। कांग्रेस के नेता रहे गुलाम नबी आजाद आज सुबह सतवारी एयरपोर्ट पर पहुंचे। वहां प्रदेश भर के विभिन्न इलाकों से आए समर्थकों और नेताओं ने उनका स्वागत किया। इसके बाद वह अपने निवास स्थान गांधीनगर गए। 
सैनिक फार्म में जनसभा के लिए विशाल पंडाल स्थापित किया गया था। इसमें स्टेज पर 50 से 60 लोगों के बैठने की व्यवस्था थी। इसी तरह पंडाल के नीचे पांच हजार कुर्सियां लगाई थी। जिसमें फार्म के भीतर और बाहर एक समय पर 15 से 20 हजार लोग उपलब्ध थे।

जनसभा में आजाद को सुनने के लिए सुबह से ही आयोजन स्थल पर लोग पहुंच रहे हैं। भारी भीड़ के आने की संभावना को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जनसभा में प्रदेश कांग्रेस समिति के पूर्व मंत्री, विधायक, एमएलसी, डीडीसी, बीडीसी सदस्यों सहित हजारों नेता और कार्यकर्ता पहुंचेंगे। आजाद समर्थक पूर्व मंत्री जुगल किशोर शर्मा ने कहा कि नबी अपनी नई राजनीतिक पार्टी की घोषणा कर सकते हैं। इस जनसभा पर अन्य राजनीतिक दलों की निगाहें टिकी हैं।