Sunday, November 28, 2021
Homeन्यूज़नेशनलविशाखापट्टनम में केमिकल गैस लीक, 13 की मौत, सैकड़ों की हालत गंभीर

विशाखापट्टनम में केमिकल गैस लीक, 13 की मौत, सैकड़ों की हालत गंभीर

नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में केमिकल गैस लीकेज के कारण मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है जिनमें एक बच्चा भी शामिल है। पुलिस महानिदेशक गौतम सवांग ने कहा कि मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने उच्च स्तरीय बैठक में स्थिति की समीक्षा की। डीजीपी ने कहा कि अब प्लांट में गैस लीकेज नहीं हो रही है और स्थिति नियंत्रण में है। गैस लीकेज से 1000 लोगों के बीमार होने की आशंका है। हादसे के बाद नेशनल डिजास्टर रेस्पांस फोर्स (एनडीआरएफ) की टीम मौके पर पहुंच गई है और उसने बचाव कार्य शुरू कर दिया है।


सीएम की बैठक के बाद डीजीपी ने कहा कि कम से कम 246 लोगों की हालत ज्यादा खराब है। उनका इलाज विशाखापत्तनम के किंग जॉर्ज अस्पताल में किया जा रहा है। 20 मरीजों को वेंटिलेटर पर रखा गया है। आरआर वेंकटपुरम गांव से कम से कम 800 लोगों को निकाला गया है। डीजीपी ने कहा कि जांच इस बात की जा रही है कि गैस लीकेज कैसे हुई। प्लांट में न्यूट्रलाइजर क्यों काम नहीं कर रहा था। इससे गैस की लीकेज को रोका जा सकता था। डीजीपी ने कहा कि वैसे तो यह गैस जहरीली नहीं है लेकिन सांस के जरिये अत्यधिक गैस शरीर में जाने पर घातक हो जाती है।

एनडीआरएफ के डायरेक्टर जनरल एस. एन. प्रधान ने कहा कि एनडीआरएफ की स्पेशल गैस लीकेज टीम मौके पर पहुंच गई है। टीम के सदस्य उन लोगों की जांच कर रही है, जिन्हें गैस लीकेज के कारण तकलीफ हो रह है। प्लांट से स्टिरीन वैपर गैस लीक हुई है। इस गैस से मुख्य नर्वस सिस्टम, गले, त्वचा, आंखों और शरीर के कुछ अंगों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।


गैस लीकेज करीब तीन किलोमीटर के दायरे में हुई है, ऐसे में बीमारों और मृतकों की संख्या बढ़ने की भी आशंका है। करीब 200 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिला चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी तिरुपति राव के अनुसार एलजी पॉलिमर इंडस्ट्री के आरआर वेंकटपुरम गांव स्थित प्लांट में गैस लीकेज की घटना हुई है। यह हादसा आज तड़के प्लांट में कुछ खराबी होने के कारण हुआ। दो लोगों की मौत उस समय कुआं में गिरने की वजह से हुई, जब लोग गैस लीकेज के बाद बचने के लिए इधर-उधर भाग रहे थे।


आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी हादसे पर नजर रखे हुए हैं। उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री विशाखापत्तनम स्थित किंग जॉर्ज अस्पताल का दौरा करने जा रहे हैं, जहां बीमार लोगों का इलाज किया जा रहा है।

विशाखापट्टनम की स्थिति के बारे में पीएम नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के सीएम वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी से बातचीत की है। उन्होंने सभी मदद और सहायता का आश्वासन दिया है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘विशाखापट्टनम में स्थिति के संबंध में एमएचए (गृह मंत्रालय) और एनडीएमए (राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण) के अधिकारियों से बात की गई है, जिस पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। मैं विशाखापट्टनम में सभी की सुरक्षा और कल्याण के लिए प्रार्थना करता हूं।’

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

लेटेस्ट न्यूज़

ट्रेंडिंग न्यूज़