Nepal Plane Crash : अंतिम समय में हुआ दंपति का पुनर्मिलन फिर हादसे ने ले ली पूरे परिवार की जान

 
Nepal Plane Crash

नई दिल्ली। कोर्ट के आदेश पर अलग रह रहे दंपति के लिए शायद कुदरत ने भी कुछ अलग ही सोचा हुआ था। शायद यहीं कारण था कि अंतिम समय में जब मौत आई तो दंपति का पुनर्मिलन हुआ और उसके बाद विमान हादसे में जान चली गई। हादसे में पूरे परिवार का अंत हो गया। 

Also Read : Nepal Tara Air Plane: नेपाली विमान का एटीसी से टूटा संपर्क, लापता विमान में चार भारतीय समेत 22 लोग सवार


लापता ​नेपाल विमान के मलबे को सेना के होटी हेलीकाप्टर ने तलाश लिया है। इसी के साथ ही करीब 17 शव मिले हैं। इन शवों में भारतीय दंपति और उनके बेटे-बेटी के नाम भी शामिल हैं। इस भारतीय दंपती के मिलन का अंत भी बड़ा ही दर्दनाक हुआ। एक ही झटके में पति-पत्नी और बेटी-बेटा सभी विमान हादसे का शिकार हो गए। मुंबई में रह रहे अशोक त्रिपाठी और ठाणे में रह रही उनकी पत्‍‌नी दोनों की कई साल से अलग थे। दोनों कोर्ट के आदेश पर अलग—अलग रह रहे थे। दोनों का पुनर्मिलन नेपाल जाने के लिए हुआ था। जिसमें उनके बेटे और बेटी भी शामिल थे। चारों हंसी खुशी विमान में सवार हुए थे।

शायद उनको नहीं पता था कि यह विमान यात्रा उनकी मौत की यात्रा बनने जा रही है। ठाणे के कपूरबाड़ी थाने के एक अधिकारी ने आज बताया कि अशोक त्रिपाठी ओडिशा में एक कंपनी चलाते थे। उनकी पत्‍‌नी वैभवी त्रिपाठी मुंबई के बीकेसी में एक कंपनी में नौकरी करती थीं। दोनों कोर्ट के आदेश से अलग रह रहे थे। वैभवी,बेटा धनुष और बेटी रितिका के साथ ठाणे एक अपार्टमेंट में रहते थे। नेपाल विमान हादसे में ये चारों भारतीय के अलावा जर्मनी के दो और 13 नेपाली नागरिक थे। इसके अलावा तीन क्रू मेंबर थे। सभी की हादसे में मौत हो गई। नेपाली मीडिया के अनुसार दुर्घटनास्थल से अभी तक 20 शव बरामद हो चुके हैं। 

Also Read : Airplane Crash: लापता विमान का मलबा मिला, घंटों खोजबीन के बाद हुआ हासिल


ये था मामला 

गत रविवार को तारा एयर का प्लेन चार इंडियन सहित 22 लोगों को लेकर पोखरा से उड़ान भरने के 15 मिनट बाद लापता हो गया था। विमान का मलबा मुस्तांग के थसांग-2 में मिला। बताया जाता है कि प्लेन जब 14 हजार फिट की ऊंचाई पर था उसी दौरान पहाड़ से टकराकर हादसे का शिकार हो गया।