Flood Crisis: असम और महाराष्ट्र में बाढ़ और भूस्खलन से मरने वालों की संख्या हुई 194

 
Flood Crisis

नई दिल्ली। असम, महाराष्ट्र और गुजरात सहित देश के कई राज्यों में इस समय बाढ़ और बारिश से स्थिति गंभीर है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में लोगों का जीवन बुरी तरह प्रभावित है। असम में बाढ़ की स्थिति और गंभीर हो गई है। अभी तक असम में 2.10 लाख से अधिक लोग बाढ़ से घिरे हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक काचर जिले में एक व्यक्ति की मौत हो गई। इससे बाढ़ और भूस्खलन से अब तक मरने वालों की संख्या 194 हो गई है। महाराष्ट्र में बारिश से नदियां बाढ़ ग्रस्त हैं और पानी पुल के ऊपर से बह रहा है। पालघर में सड़कों को यातायात के लिए बंद किया है। ठाणे में भातसा नदी के किनारे रहने वाले लोगों को सावधान रहने को कहा है।

Read also: Bundelkhand Expressway: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बुंदेलखंड को देंगे एक्सप्रेसवे की सौगात,दिल्ली—लखनऊ से जुड़ैगा बुंदेलखंड

गुजरात और सौराष्ट्र के क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों से भारी वर्षा हो रही है। नवसारी में 811 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। सूरत नगर निगम के उपायुक्त आशीष नाइक ने बताया कि बाढ़ प्रभावित इलाकों में पानी का स्तर कम हो गया है। वहां सफाई का काम शुरू है। हमारा फोकस पहले जैसी स्थिति बहाल करना है। तमिलनाडु में कोयंबटूर प्रशासन ने भारी बारिश के बाद बाढ़ की चेतावनी दी है। नोय्याल,भवानी और अमरावती नदियों में जलस्‍तर बढ़ रहा है। तेलंगाना के भद्राचलम और आसपास के इलाकों में बाढ़ की स्थिति गंभीर है। गोदावरी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में भारी बारिश के कारण चिनाब का जल स्तर बढ़ गया है।