Delhi Liquor Policy Case: उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के बैंक लाकर की तलाशी लेने वसुंधरा पहुंची सीबीआई

 
Delhi Liquor Policy Case:

नई दिल्ली। दिल्ली की आप सरकार के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के बैंक लॉकर की तलाशी लेने केंद्रीय जांच एजेंसी ‘सीबीआई’ की टीम गाजियाबाद के वसुंधरा सेक्टर चार स्थित पंजाब नेशनल बैंक शाखा पहुंची। टीम बैंक में सुबह 11 बजे पहुंची। जहां पर डिप्टी सीएम के लॉकर की जांच कर रही है। इस मौके पर मनीष सिसोदिया और उनकी पत्नी बैंक में मौजूद हैं। इसस पहले सिसोदिया ने ट्वीट करके कहा था कि कल सीबीआई हमारा बैंक लॉकर देखने आ रही है। 19 अगस्त को मेरे घर पर 14 घंटे की छापेमारी में कुछ नहीं मिला था। लॉकर में कुछ नहीं मिलेगा। सीबीआई का स्वागत है। सीबीआई की जांच में मेरा और मेरे परिवार का पूरा सहयोग है।

सिसोदिया के खिलाफ सीबीआई का एक्शन जारी है। बता दें कि राजधानी दिल्ली के चर्चित शराब नीति में गड़बड़ी के मामले में सीबीआई की कार्रवाई लगातार जारी है। इसी कड़ी में सीबीआई टीम ने पहले दिल्ली डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के आवास पर छापेमारी की थी। इतना ही नहीं सीबीआई टीम ने मामले में पूर्व एक्साइज कमिश्नर अरावा गोपी कृष्णना के घर सहित 7 राज्यों के 21 ठिकानों पर छापेमारी की थी।  गौरतलब है कि डिप्टी सीएम और आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया पर दिल्ली की नई आबकारी नीति में गड़बड़ी के गंभीर आरोप है। आरोप है कि आप सरकार ने नई शराब नीति के माध्यम से शराब लाइसेंस धारियों को अनुचित लाभ पहुंचाया है। लाइसेंस देने में अनदेखी की गई है। टेंडर के बाद शराब ठेकेदारों के 144 करोड़ रुपए माफ करने का भी आरोप है। रिश्वत के बदले शराब कारोबारियों को लाभ और कोरोना के बहाने लाइसेंस फीस माफ करने जैसे भी आरोप हैं। 

Read also: Exclusive: सोेनाली फोगाट की इकलौती बेटी को जान का खतरा, 110 करोड रुपये के संपत्ति की मालकिन है यशोधरा

दिल्ली का एक्साइज विभाग उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के अधीन है। आरोप है कि नई आबकारी नीति के तहत उठाए गए कदमों से राजस्व को नुकसान पहुंचा है और नई शराब नीति कारोबारियों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से लाई गई थी। जिसके चलते उनके खिलाफ पिछले दिनों दिल्ली के उपराज्यपाल विनय सक्सेना ने सीबीआई जांच की सिफारिश केंद्र से की थी। एलजी वीके सक्सेना ने मुख्य सचिव की रिपोर्ट के बाद ये सिफारिश की थी।