Bundelkhand Expressway: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बुंदेलखंड को देंगे एक्सप्रेसवे की सौगात,दिल्ली—लखनऊ से जुड़ैगा बुंदेलखंड

 
Bundelkhand Expressway

नई दिल्ली। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का लोकार्पण कर एक और सौगात प्रदेशवासियों को देने जा रहे हैं। एक्सप्रेसवे शुरू हो जाने से बुंदेलखंड सीधा दिल्ली और लखनऊ से जुड़ जाएगा। एक्सप्रेस वे के लोकार्पण कार्यक्रम में शामिल होने के लिए ललितपुर और झांसी से बड़ी संख्या में लोग पहुंचेगें। लोगों के जाने के लिए रोडवेज की 120 बसों के अलावा 200 प्राइवेट बसों की व्यवस्था की गई है। आज शनिवार को झांसी और आसपास के जिलों के 13 रूट बसों से पूरी तरह से खाली हो जाएंगे। इन मार्गों पर कोई बस नहीं चलेगी। रोडवेज ने अपनी सभी 120 बसें कल शुक्रवार सुबह से रूट से अलग कर दी थीं। बसों से योजनाओं के लाभार्थियों को उरई ले जाया जाएगा। बसों के सड़कों से हटते ही लोगों के सामने बड़ा यातायात का संकट खड़ा हो गया है। रोडवेज बसों में यात्रा करने वाले लोग पूरे दिन परेशान रहे। आज शनिवार को हजारों लोगों को बसों का इंतजार करना पड़ेगा। आगामी रविवार तक यहीं परेशानी बनी रहेगी। रविवार की दोपहर बाद से ही बसों का संचालन फिर से शुरू हो पाएगा। अगर बस का सफर प्लान कर रहे हैं तो फिलहाल दो दिनों के लिए टालना ही बेहतर होगा। रोडवेज की बस नहीं प्राइवेट बसें भी लाभार्थियों को ले जाने के लिए लगाई गई हैंं। 

Read also: Kanwar Yatra News: कांवड़ यात्रा पर मंडराया आतंकी खतरा,गृहमंत्रालय ने दिए सतर्क रहने के निर्देश

बता दें कि बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे चित्रकूट से लेकर इटावा तक 296 किमी लंबा है। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे से सात जिलों का कायाकल्प होगा। इस एक्सप्रेस वे के बन जाने से बांदा,चित्रकूट, हमीरपुर, महोबा, औरैया, जालौन और इटावा जिले सीधे जुड़ेंगे। 14850 करोड़ रुपये की लागत से बने इस एक्सप्रेस वे को पीएम नरेंद्र मोदी आज शनिवार को जालौन के कैथरी गांव में बुंदेलखंड की जनता को समर्पित करेंगे। एक्सप्रेसवे की शुरुआत के बाद चित्रकूट से दिल्ली तक का 630 किलोमीटर का सफर छह से सात घंटे में पूरा होगा। इसके अलावा यह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे और यमुना एक्सप्रेसवे के माध्यम से दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के साथ जुड़ेगा। एक्सप्रेसवे बनने के बाद बुंदेलखंड में औद्योगिक और आर्थिक विकास का रास्ता खुलेगा।