Amarnath Yatra 2022: बाबा बर्फानी के भक्तों के उत्साह में नहीं दिखी कमी,लापता 40 में से 32 लोग मिले

 
Amarnath Yatra 2022

जम्मू। पहलगाम और बालटाल से अमरनाथ यात्रा अब पूरी तरह से जारी हो गई है। पवित्र गुफा में गत बुधवार को 16457 शिव भक्तों ने बाबा बर्फानी के दर्शन किए। यात्रा के दौरान सोनामार्ग के गुंड स्थान पर महिला तीर्थयात्री की मौत हो गई। वहीं बादल फटने से आई आपदा में लापता 40 तीर्थ यात्रियों में से 32 लोग मिल गए हैं। लेकिन अभी भी 8 लोग लापता बताए जा रहे हैं। इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है।  शिव भक्तों का मौसम पूरा साथ दे रहा है। बालटाल रूट से 10,500 श्रद्धालुओं को पवित्र गुफा के लिए रवाना किया। पहलगाम से हजारों श्रद्धालुओं को पवित्र गुफा की ओर भेजा है। इस बीच आधार शिविर भगवती नगर जम्मू से 6,415 श्रद्धालुओं का जत्था अमरनाथ के लिए रवाना किया गया। जो शाम तक अपने पड़ाव स्थलों तक पहुंचेगा। 

Read also: Uttarakhand Accident: केदारनाथ से लौट रहे मेरठी युवकों की कार खाई में गिरी,बचाव अभियान जारी

अमरनाथ गुफा के पास त्रासदी के बाद भी शिवभक्तों के उत्साह और जोश में कमी नहीं आई है। देशभर से हजारों श्रद्धालु जम्मू-कश्मीर पहुंच रहे हैं। पंजीकरण के लिए लंबी लाइनें लग रही हैं। तीर्थ यात्री पंजीकरण करवाने के बाद सीधे आधार शिविर पहलगाम और बालटाल पहुंच रहे हैं। आधार शिविर भगवती नगर जम्मू से बालटाल रूट के लिए 2,428 श्रद्धालुओं का जत्था पवित्र गुफा की ओर रवाना हुआ। इसमें 1,625 पुरुष, 794 महिलाओं के अलावा 9 बच्चे शामिल रहे। इसी प्रकार से पहलगाम रूट के लिए 3,987 श्रद्धालुओं का जत्था रवाना हुआ है। इसमेंू 2920 पुरुष, 950 महिलाएं, 34 बच्चे, 79 साधु और 4 साध्वी शामिल हैं। यात्रा बढ़ने के साथ शिव भक्तों का जोश बढ़ रहा है। त्रासदी के बाद बालटाल ट्रैक को दुरुस्त किया गया है। जिससे पहलगाम से जाने वाले यात्री बालटाल रूट से वापसी पर हैं। हजारों भक्तों की भीड़ पहुंचने से जम्मू शहर शिवमय बना हुआ है।