सर तन से जुदा इस्लाम विरोधी नारा, NSA के सामने बोले मुस्लिम रहनुमा

 
मुस्लिम रहनुमा

दिल्ली में ऑल इंडिया सूफी सज्जादनशीन काउंसिल के इंटरफेथ सम्मेलन में काउंसिल के अध्यक्ष सैयद नसीरुद्दीन चिश्ती ने "सर तन से जुदा" नारे को इस्लाम विरोधी करार दिया, मुस्लिम रहनुमा ने इसी के साथ एक एंटी रेडिकल फ्रंट स्क्वॉड बनाने की बात कही साथ ही यह भी कहा कि अगर PFI के खिलाफ सरकार के पास सबूत हैं तो उसपर ज़रूर प्रतिबन्ध लगना चाहिए. मुस्लिम रहनुमा यह बातें NSA अजित डोभाल की मौजूदगी में कहीं. 

वहीँ इस मौके पर NSA अजित डोभाल ने कहा कि कुछ एलिमेंट्स देश में ऐसा माहौल बनाने का प्रयास कर रहे हैं जिससे देश के विकास में बाधा उत्पन्न हो रही है. NSA ने कहा कि यह तत्व धर्म और विचारधारा के नाम पर वैमनस्यता और संघर्ष पैदा कर रहे हैं. जिसका असर देश के साथ-साथ विदेश में भी देखने को मिल रहा है. अजीत डोभाल ने कहा कि मुस्लिम समुदाय को यह लगता होगा कि वो एक बहुत छोटी आवाज हैं लेकिन ऐसा नहीं है. NSA ने कहा कि देश का अल्पसंख्यक समुदाय सबसे ज्यादा सक्षम है. उन्हें अपनी आवाज को बुलंद करना होगा. हर बुज़ुर्ग और बच्चे को इस देश पर के लिए गर्व महसूस करवाना होगा. अजित डोभाल ने कहा कि इस देश को आगे बढ़ाने में हर मज़हब और हर हिस्से का महत्वपूर्ण योगदान है.

Read also: Telangana KCR Meets Akhilesh Yadav: तेलंगाना में भाजपा के बढ़ते कदमों को रोकने के लिए मुख्यमंत्री केसीआर ने की अखिलेश से मुलाकात

वहीं काउंसिल के अध्यक्ष नसीरुद्दीन चिश्ती ने कहा कि दुनिया में एक अजीब सा टकराव पैदा हो गया है, उन्होंने कहा कि चंद लोग जो मज़हब और विचारधारा के नाम पर ऐसे विवाद खड़े करते हैं जिसका असर पूरे देश में पड़ता है. मुस्लिम रहनुमा ने कहा कि कट्टरपंथी संगठनों पर लगाम लगाने की सख्त ज़रुरत है. अगर उनके खिलाफ सबूत हैं तो उन्हें ज़रूर प्रतिबंधित किया जाना चाहिए, फिर वो चाहे PFI हो या कोई और. सम्मलेन में यह संकल्प भी लिया गया कि किसी टीवी चर्चाओं के दौरान देवी-देवता या पैगंबर को निशाना बनाने की निंदा की जानी चाहिए और कानून के तहत ही ऐसे मामलों को निपटाया जाना चाहिए.