Amarnath Yatra 2022: आज से फिर शुरू हुई अमरनाथ यात्रा, नुनवान से जत्था गुफा की ओर रवाना

 
Amarnath Yatra 2022

जम्मू। अमरनाथ गुफा के पास शुक्रवार को बादल फटने से आए सैलाब में लापता हुए लोगों की तलाश अभी जारी है। दो दिन के बाद अब अमरनाथ यात्रा फिर से शुरू हो चुकी है। जम्मू बेस कैंप से बाबा बर्फानी के पवित्र गुफा के दर्शन के लिए नए जत्था फिर से रवाना हो गया। पहलगाम रूट पर नुनवान आधार शिविर से अमरनाथ यात्रियों का जत्था पवित्र गुफा की ओर रवाना किया गया। 

Read also: इस साल अमरनाथ यात्रा के लिए 6-8 लाख श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद


अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड के मुताबिक यात्रा को सोमवार से एक रूट पर शुरू किया गया है। लेकिन हेलिकॉप्टर सेवा नुनवान और बालटाल दोनों रूट से जारी रहेगी। जम्मू स्थित भगवती नगर आधार शिविर में 11 जुलाई तक पंजीकृत यात्रियों को पहुंचने को कहा है। जम्मू उपायुक्त अवनी लवासा के अनुसार यात्रा शुरू की जा चुकी है। पंजीकृत यात्रियों को यात्री निवास पहुंचने के लिए कहा है।


बता दें कि शुक्रवार की शाम अमरनाथ की पवित्र गुफा के पास बारिश में आए सैलाब के बीच यात्रा को रोक दिया था। गुफा के सामने छह से दस फुट तक मलबा आ जाने से यात्रा मार्ग ध्वस्त हो गया था। गत रविवार की शाम पहलगाम रूट को यात्रा के लिए पूरी तरह से तैयार किया गया। हालांकि बालटाल में यात्रा मार्ग को बहाल करने का काम अभी जारी है।


रविवार को गुफा के भीतर और सैलाब से प्रभावित परिसरों में पुजारियों ने मंत्रोच्चार के साथ पूजा अर्चना शुरू की। अमरनाथ यात्रा के नोडल अफसर विजय कुमार बिधूड़ी ने बताया कि बालटाल और पहलगाम दोनों मार्गों पर आधार शिविरों में 15 हजार के आसापस श्रद्धालुगण मौजूद हैं। श्राइन बोर्ड के उच्च सूत्रों का कहना है कि पहलगाम से आज सोमवार को श्रद्धालुओं का जत्था बाबा बर्फानी की पवित्र गुफा के लिए रवाना किया गया है। इसके लिए पूरे इंतजाम किए गए हैं। 

Read also: अमरनाथ यात्रा से पहले तेज किए जा रहे आतंक-रोधी अभियान : जम्मू-कश्मीर डीजीपी


अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने से आए सैलाब में लापता 40 श्रद्धालुओं का तीसरे दिन कोई पता नहीं चल सका है। इनकी तलाश अब अत्याधुनिक मशीनों के अलावा अतिरिक्त जवानों द्वारा की जा रही है। वहीं बड़ी चट्टानों और बर्फ को तोड़कर चप्पा-चप्पा खंगालकर श्रद्धालुओं की तलाश की जा रही है।