Jharkhand Cash Scandal: कांग्रेस से निलंबित झारखंड के 3 विधायक गिरफ्तार, गाड़ी में मिला था 50 लाख कैश

 
Jharkhand Cash Scandal

झारखंड के तीन कांग्रेस विधायकों समेत 5 लोगों से 50 लाख रुपये कैश मिलने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तार लोगों में विधायकों के अलावा एक ड्राइवर और एक सहायक शामिल हैं. कैश की बरामदगी के बाद कांग्रेस पार्टी ने बड़ा एक्शन लेते हुए अपने तीनों विधयकों को ससपेंड कर दिया है. हालाँकि कांग्रेस पार्टी ने इसके लिए भाजपा को ज़िम्मेदार ठहराया और आरोप लगाया कि भाजपा महाराष्ट्र की तरह झारखण्ड में भी ऑपरेशन लोटस चलना चाहती थी, लेकिन विधायकों को कॅश के साथ पकडे जाने पर उसका यह ऑपरेशन नाकाम हो गया है. 

झारखंड कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने इस पूरे घटनाक्रम के लिए असम के मुख्यमंत्री हिमंत विस्वा सरमा को दोषी ठहराया है. उन्होंने कहा कि असम के मुख्यमंत्री ने पिछले कई दिनों तक दिल्ली में डेरा डाले हुए थे. उन्होंने कहा कि हमारे पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि उन्होंने हमारे किस-किस विधायक से बात की, इन बातों की फोन रिकॉर्डिंग समेत सभी रिकॉर्ड हमारे पास हैं. कांग्रेस ने आरोप लगाया कि भाजपा राजस्थान में भी कई बार ऑपरेशन लोटस चला चुकी है लेकिन उसे हर बार मुंह की खानी पड़ी, लेकिन महाराष्ट्र में शिवसेना को तोड़ने के बाद वह अब झारखण्ड सरकार को गिराना चाहती है. बता दें कि झारखण्ड में कांग्रेस और RJD के सहयोग से JMM सरकार चला रही है. 

Read also: Har Ghar Tiranga: 91वीं बार पीएम मोदी ने देश से की मन की बात, घरों पर तिरंगा फहराने का आह्वान

पश्चिम बंगाल पुलिस ने हावड़ा में इन विधायकों राजेश कच्छप, नमन विक्सेल कोंगारी और इरफान अंसारी की SUV गाड़ी से कैश बरामद किया गया था, जिसके बाद रुपये गिनने वाली मशीन मंगवाई गई थी. हावड़ा की एसपी ग्रामीण के अनुसार ख़ुफ़िया जानकारी के आधार पर पंचला थाना क्षेत्र के रानीहाटी में नेशनल हाइवे-16 पर एक गाड़ी को रोका गया जिसमें झारखंड कांग्रेस के तीन विधायक थे. गाड़ी की जांच के दौरान उसमें भारी संख्या में कैश मिला.