Terrorists Encounter: सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में दो दहशतगर्द ढेर, सेब के बाग में मिला विस्फोटक

 
Terrorists Encounter

श्रीनगर। अनंतनाग के बिजबिहाड़ा इलाके में सुरक्षाबलों और दहशतगर्दों के बीच हुई मुठभेड़ के दौरान दो आतंकी मारे गए हैं। बाकी अन्य आतंकियों की तलाश में सुरक्षा बलों ेन इलाके को घेरकर अभियान चलाया हुआ है। तलाश में सुरक्षाबलों ने अभियान चलाया है। मुठभेड़ में मारे गए दोनों आतंकियों की स्थानीय निवासियों से पहचान कराई जा रही है। सुरक्षा बल के अधिकारी ने बताया कि जिले के थजीवारा क्षेत्र में संदिग्धों के होने की जानकारी स्थानीय पुलिस को मिली थी। इसके बाद पूरे क्षेत्र में पुलिस और सुरक्षाबलों ने संयुक्त रूप से तलाशी अभियान और चेकिंग शुरू कर दी। चेकिंग के दौरान ही एक मकान पर पुलिस और सुरक्षाबलों को कुछ हलचल नजर आई। इसके बाद दहशतगर्दों ने सुरक्षाबलों और पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्ष बलों और पुलिस ने भी मोर्चा संभाल लिया और जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी। जिसके बाद दोनों ओर से करीब 3 घंटे तक फायरिंग होती रही। फायरिंग के दौरान सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया। इससे पहले भी गत मंगलवार को अनंतनाग में सुरक्षा बलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराया था। मारे गए आतंकी टेरिटोरियल आमÊ के दो जवानों की हत्या सहित सुरक्षाबलों पर हमले और नागरिकों पर अत्याचार के मामलों में शामिल थे।

मारे गए आतंकियों से भारी मात्रा में हथियार बरामद किए हैं। सूरक्षा बलों ने चेकिंग के दौरान पास के सेब के बाग से भारी संख्या में विस्फोटक बरामद किया है। सूत्रों के मुताबिक अनंतनाग के पोशक्रीरी इलाके में सूत्रों से आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद तलाशी अभियान चलाया गया। इसी तलाशी अभियान के दौरान ही आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। आतंकियों पर जवाबी कार्रवाई करते हुए मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया गया। इनकी शिनाख्त जबलीपोरा बिजबिहाड़ा के दानिश अहमद भट और फथेहपोरा अनंतनाग के बशारत नबी के रूप में हुई। पुलिस के मुताबिक मारे गए दोनों आतंकी तीन साल से सक्रिय थे। वे टेरिटोरियल आमÊ के जवान सडूरा अनंतनाग निवासी मंजूर अहमद की छह जून 2019 और बिजबिहाड़ा के मोहम्मद सलीम की नौ अप्रैल 2021 को हत्या में शामिल थे। इसके साथ ही 29 मई 2021 को जबलीपोरा बिजबिहाड़ा में दो नागरिकों की हत्या में शामिल थे। मारे गए आतंकियों से एके 56 राइफल, भारी संख्या में गोलियां, चार मैगजीन,  पिस्टल और अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई।