हिजबुल और लश्कर के 300 आतंकी इंडिया में घुसने की फिराक में

 
हिजबुल और लश्कर के 300 आतंकी इंडिया में घुसने की फिराक में हिजबुल और लश्कर के 300 आतंकी इंडिया में घुसने की फिराक में

नई  दिल्ली | हिजबुल और लश्कर के 300 आतंकी भारत में घुसने की फिराक में है. सेना को मिले इनपुट के मुताबिक यह आतंकी कोरोना एफेक्टेड भी हो सकते हैं. इतनी बड़ी संख्या में घुसपैठ की सूचना पर भारतीय सीमाओं पर चौकसी और बढ़ा दी गई है.कश्मीर के 15 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ने सैन्य अफसरों से नियंत्रण रेखा पर गश्त के दौरान पर्याप्त एहतियात बरतने को कहा है. उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस से यह आतंकी संक्रमित हो सकते हैं.सेना की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान की सेना और उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने हाल के सप्ताह में नियंत्रण रेखा के पास 16 लॉन्चपैड एक्टिव किए हैं.

नौशेरा और चम्ब की पहाड़ियों पर भी लॉन्चपैड बनाए गए हैं. आतंकी गुलमर्ग के रास्ते से घुसपैठ कर सकते हैं.रिपोर्ट में कहा गया है कि लेफ्टिनेंट जनरल राजू सीआईजी को और चाक चौबंद करने के लिये डेली सैन्य अफसरों के साथ बैठक कर रहे हैं. सीआईजी को और मजबूत करने निर्देश दिए गए हैं. सैन्य अफसरों का कहना है कि आतंकियों के साथ मुठभेड़ या संघर्ष की स्थिति में सैनिकों के शवों को लेकर अत्यंत सावधानी बरते क्योंकि वे कोरोना संक्रमित भी हो सकते हैं.उधर, सैनिकों की तैनाती में बदलाव किया गया है. दरअसल, आतंकियों के लीपा घाटी के पार, अथमुकम और डुडनियाल में मौजूदगी के संकेत मिले हैं. गौरतलब है कि यह वही इलाका है जहां से बीती 5 अप्रैल को पांच आतंकी भारतीय सीमा में घुसे थे. इन पांचों को मार गिराया गया था लेकिन इस दौरान हमारे पांच जवान भी शहीद हो गए थे.

कश्मीर में 4 घंटे चली मुठभेड़ में 4 आतंकी ढेर
दक्षिण कश्मीर में तीन दिन से आतंकियों से मुठभेड़ जारी थी. सेना ने 4 आतंकियों को रविवार रात को मार गिराया है. सेना के एक मेजर के घायल होने की भी सूचना है.आतंकियों ने चेहलान और अस्थल में गश्त कर रही सेना की टुकड़ी पर अचानक गोलियां बरसाई थीं. मारे गए आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई है. सेना ने पूरा एरिया घेर लिया है और सर्च ऑपरेशन चला रही है.