Uttarakhand News: हारकर भी जीते धामी ने उत्तराखंड में रच दिया एक इतिहास, आज माने जाते हैं सफल मुख्यमंत्री

 
Uttarakhand

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपना 48वां जन्मदिन आज मना रहे हैं। सीएम धामी ने अपने जन्मदिन को संकल्प दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी। इसी के साथ प्रदेशवासियों से मिले प्यार के लिए उन्होंने आभार व्यक्त किया। जन्मदिन के मौके पर गृह अमित शाह सहित तमाम राजनेताओं और प्रमुख लोगों की ओर से उन्हें बधाई संदेश भेजे गए हैं।  आज शुक्रवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सबसे पहले टपकेश्वर महादेव पहुंचकर महादेव का आशीर्वाद लिया। इसके बाद अपने परिवार के साथ सीएम यहां पहुंचे और शिव को जलाभिषेक किया। गढ़वाल से लेकर कुमाऊं तक महिला मोर्चा कार्यकत्रियों नें धार्मिक स्थलों, गंगा किनारे व शिवालयों में 48-48 दीपक जलाकर मुख्यमंत्री की दीर्घायु की कामना की है। सुबह छह बजे संकल्प दौड़ का आयोजन किया गया।
पुष्कर सिंह धामी का जन्म पिथौरागढ़ की ग्राम सभा टुण्डी, तहसील डीडीहाट में हुआ था। जहां वे एक साधारण परिवार से आते हैं। उनकी शिक्षा सरकारी स्कूल में हुई है। 

खटीमा विधानसभा सीट से चुनाव हारने के बाद उत्तराखंड में पुष्कर सिंह धामी को ही मुख्यमंत्री बनाया गया। उन्हें विधायक दल का नेता चुना गया और इसी के साथ उत्तराखंड में नए इतिहास की इबारत लिखी गई। मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने उत्तराखंड में अपनी अलग पहचान बनाई है। देवभूमि के युवाओं के बीच उनकी काफी लोकप्रियता बढ़ गई।  केंद्रीय नेताओं की परिक्रमा के साथ ही दिल्ली दरबार में लोगों की बाकायदा लॉबिंग शुरू हो गई थी, लेकिन कुसÊ के दावेदार बड़े-बड़े दिग्गजों को चित कर  धामी मोदी और शाह की आंखों का तारा बने और प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। आज वो उत्तराखंड ही नहीं भाजपा के भी अब तक के सबसे सफल मुख्यमंत्रियों में एक हैं।