Snowfall In Uttarakhand: केदारनाथ और यमुनोत्री की पहाडियों पर सीजन का पहला हिमपात, बढ़ने लगी ठंड

 
Snowfall In Uttarakhand

देहरादून। उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में देर रात से मौसम का मिजाज बदला नजर आ रहा है। जिसके बाद तड़के केदारनाथ और यमुनोत्री धाम की पहाड़ियों पर मौसम का पहला हिमपात हुआ है। हाल में हुई बारिश और अब हिमपात से चारों धामों में ठंड भी बढ़ने लगी है।  यमुनोत्री धाम के ऊपर सप्त ऋषि कुंड, कालिंदी पर्वत, बंदरपूंछ, गरुड़ गंगा टॉप में आज सुबह से हिमपात हो रहा है। हल्की बर्फबारी के बाद धाम में मौसम सुहावना हो गया है। उधर, पहाड़ों की रानी मसूरी, धनोल्टी और कैंपटी में सोमवार देर रात से बारिश का दौर जारी है। बारिश के बाद मसूरी में हल्का कोहरा छाया है। साथ ही ठंड बढ़ने लगी है। 

आज मैदानी इलाकों में दिन की शुरुआत धूप के साथ हुई। गढ़वाल और कुमाऊं के इलाकों में हालांकि हल्के बादल हैं। लेकिन अधिकतर क्षेत्रों में धूप खिलने से उमस भरी गमÊ हो गई।  वहीं, बारिश के बाद बाबा केदार के भक्तों का उत्साह कम नहीं हो रहा। केदारनाथ में दर्शनार्थियों की संख्या 12 लाख से अधिक पहुंच गई है। बीते दस दिनों से धाम में प्रतिदिन श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ रही है। इस साल अब यात्रा के सिर्फ 37 दिन रह गए। जिस तरह से यात्रियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, उससे उम्मीद है कि कपाट बंद होने तक यात्रियों की संख्या 15 लाख को पार कर जाएगी। भक्तों की उमड़ती भीड़ को देखते हुए मंदिर अब 14 से 15 घंटे खुल रहा है।

यात्रियों की भीड़ के चलते मंदिर गर्भगृह में प्रवेश अस्थायी तौर पर बंद कर दिया है। अब भक्तों को सभामंडप से दर्शन कराए जा रहे हैं। अब सुबह पांच बजे से दर्शन शुरू होने के बाद अपराह्न तीन बजे तक कराए जा रहे हैं। इसके बाद आराध्य को भोग लगता है। जिसके चलते एक से डेढ़ घंटे के लिए मंदिर बंद किया जा रहा है। साढ़े चार बजे से पुनः मंदिर में दर्शन शुरू होते हैं जो कि रात में नौ बजे तक चलता है।