Sainik School Uttarakhand: प्रदेश के पर्वतीय जिलों में खोले जाएंगे सैनिक स्कूल, केंद्र के पास भेजेगी सरकार प्रस्ताव

 
Sainik School Uttarakhand

देहरादून। उत्तराखंड के देहरादून और रुद्रपुर में सैनिक स्कूल खोलने के प्रस्ताव के बाद अब प्रदेश के पर्वतीय जिलों में स्कूल खोलने की तैयारी है। कैबिनेट बैठक में निर्णय लिया है कि भूमि और भवन की उपलब्धता के आधार पर ये स्कूल खोले जाएंगे।  प्रदेश सरकार की ओर से देहरादून के राजीव गांधी नवोदय विद्यालय और रुद्रपुर के एएन झा इंटर कालेज को सैनिक स्कूल के रूप में चलाए जाने का प्रस्ताव तैयार है। इसे मंजूरी के लिए केंद्र सरकार को भेजा जा रहा है। शिक्षा विभाग अधिकारियों के अनुसार केंद्र सरकार की ओर से मानकों को पूरा करने वाले स्कूलों का प्रस्ताव मांगा था। जिस पर इन दो स्कूलों का प्रस्ताव है। इसके बाद अब बाकी स्कूलों का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा जाएगा। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक सैनिक स्कूल के लिए कम से कम सात से आठ एकड़ भूमि की जरूरी होगी।  वहीं कैबिनेट के एक अन्य फैसले में प्रदेश के इंटरमीडिएट कॉलेजों में अब प्रधानाचार्य के 50 प्रतिशत पदों को वरिष्ठता के आधार पर पदोन्नति से और शेष इतने पदों को विभाग सीधी भर्ती से भरेगा। प्रदेश के इंटरमीडिएट कालेजों में प्रधानाचार्य के 932 पद पिछले कई साल से खाली हैं। पूर्व में प्रधानाचार्य के कुछ पदों को भरा जा सके इसके लिए सरकार की ओर से पदोन्नति में छूट दी थी।

प्रधानाध्यापक से प्रधानाचार्य के लिए पदोन्नति के लिए कम से कम पांच साल इसी पद पर मौलिक सेवा को ढ़ाई वर्ष किया था। इसके बाद भी प्रधानाचार्य के अधिकांश पद खाली हैं। कैबिनेट बैठक में अब निर्णय लिया है कि माध्यमिक शिक्षा विभाग के तहत सृजित 932 पद के लिए योग्य उम्मीदवारों का चयन नहीं होने पर प्रधानाचार्य पद के लिए 50 प्रतिशत पदोन्नति वरिष्ठता के आधार पर भरे जाएंगे। जबकि शेष 50 प्रतिशत पदों पर प्रधानाध्यापकों एवं प्रवक्ता में समिति विभागीय परीक्षा कर चयन करेगी।