Uttarakhand Heavy Rain: बारिश और भूस्खलन से सड़कें अवरूद्ध,काम पर लगी 228 जेसीबी मशीनें

 
Uttarakhand Heavy Rain

देहरादून। उत्तराखंड में जोरदार बारिश के बाद मलबा और भूस्खलन से इस समय 17 राज्य मार्ग और 202 सड़कें पूरी तरह से बंद हैं। इनमें से 26 सड़कों को खोलने काम चल रहा है। जिसके बाद 176 सड़कें अभी बंद हैं। वहीं 228 जेसीबी मशीने लगाकर सड़कों को खोलने का काम जारी है। लोनिवि की रिपोर्ट के मुताबिक 202 सड़कों इस समय बंद हैं। जिनमें से अभी तक मात्र 26 सड़कों को ही खोला गया है। प्रमुख अभियंता अयाज अहमद ने जानकारी दी है कि प्राथमिकता के आधार पर सड़के खोलने का काम अब शुरू किया है। विभाग के इंजीनियरों और अन्य कर्मचारियों को अलर्ट मोड में रहने को कहा है। इस दौरान कर्मचारी-अधिकारी के स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Read also: State Minister Dinesh Khatik: लखनऊ से दिल्ली तक सनसनी फैलाने वाले राज्यमंत्री दिनेश खटीक का इस्तीफा अस्वीकार

प्रमुख सचिव लोनिवि आरके सुधांशु ने बताया कि रुद्रप्रयाग नरकोटा में निर्माणाधीन पुल बुनियाद ढहने के मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं। मामले में जिस स्तर पर लापरवाही सामने आएगी। उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा डीएम रुद्रप्रयाग को मामले में एफआईआर कराने के आदेश दिए हैं। पौड़ी-देवप्रयाग वाहन मार्ग पर पुल भार क्षमता परखी जानी है। जिसके लिए 25 जुलाई से तीन दिनों तक आवाजाही ठप रहेगी। इस दौरान मार्ग से आने जाने वाले वाहनों को पौड़ी-श्रीनगर-देवप्रयाग और पौड़ी-सतपुली-व्यासघाट मार्गों से किया जाएगा। जिलाधिकारी डा. विजय कुमार जोगदंडे ने बताया कि परिवहन विभाग व पुलिस को व्यवस्था में किए बदलाव के तहत यातायात सुचारु बनाए जाने के निर्देश दिए हैं। रेल विकास निगम की ओर से 25 से 27 जुलाई तक पौड़ी-देवप्रयाग-गजा-जाजल मार्ग स्थित एक किमी क्षेत्र पर पुल भार क्षमता का मूल्यांकन किया जाएगा। इस दौरान लाइव लोड टेस्ट को वाहनों का आवागमन बंद किया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि पुल की भार क्षमता कार्य को लेकर वाहनों की आवाजाही पूर्ण रूप से बंद रखना जरूरी है।