Uttarakhand Politics: सीएम धामी की ये महिला मंत्री एक बार फिर से चर्चा में,कांग्रेस ने साधा निशाना

 
रेखा आर्या

देहरादून। सीएम धामी की कैबिनेट में महिला मंत्री रेखा आर्या इन दिनों चर्चा में है। उनके एक निर्देश से प्रदेश सरकार के खाद्य विभाग के अधिकारी और कर्मचारी भारी परेशानी में हैं। अधिकारियों और कर्मचारियों की परेशानी है कि वो विभागीय मंत्री द्वारा आयोजित करवाए धार्मिक कार्यक्रम में जाएं या नहीं! प्रदेश की ​खाद्य मंत्री रेखा आर्या यह आयोजन करवा रही हैं। विभाग के सभी लोगों को मंत्री रेखा आर्या के इस आयोजन में शामिल होने को कहा है। इस पर विवाद उस समय खड़ा हो गया जब इसके लिए एक विभागीय पत्र जारी किया गया। इस पत्र को लेकर कांग्रेस ने मामले में सरकारी सिस्टम के दुरुपयोग का आरोप लगाकर भाजपा सरकार पर हमला बोला है। वहीं मंत्री रेखा आर्या इसे धार्मिक आस्था और पुण्य कमाने का अवसर बता रही हैं।

Read also: Nirmala Sitharaman On Crypto: भारत सरकार लगाएगी क्रिप्टोकरेंसी पर पाबंदी, वित्तमंत्री का बड़ा बयान

आगामी अगस्त के पहले हफ्ते में उप्र के बरेली में धार्मिक आयोजन में उत्तराखंड सरकार के अधिकारी व कर्मचारी व्यस्त दिख सकते हैं। बाबा बनखंडीनाथ मंदिर में आगामी चार अगस्त से नौ अगस्त तक  108 शिवलिंगों की प्राण प्रतिष्ठा और विशाल भंडारे का कार्यक्रम होना है। भंडारे में हज़ारों लोगों को भोजन कराने का कार्यक्रम खाद्य मंत्री रेखा आर्या अपनी तरफ से व्यक्तिगत तौर पर करवा रही हैं। हालांकि इसके लिए सभी मंडल के रीजनल फूड कंट्रोलर से लेकर ज़िलों के डीएसओ को निमंत्रण भेजा गया है। खाद्य विभाग के एडिशनल कमिश्नर पीएस पांगती ने पत्र जारी करते हुए अधिकारियों और  कर्मचारियों को कार्यक्रम में मौजूद रहने को कहा है।  पत्र जारी होने पर कांग्रेस को एक मुद्दा हाथ लग गया। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष करन माहरा का कहना है कि यह अंधेरगर्दी है। यह जनता सब जानती है कि अधिकारियों को बुलाने की क्या मंशा हो सकती है। यह भाजपा सरकार द्वारा सरकारी पदों का दुरुपयोग है। कांग्रेस अध्यक्ष माहरा ने बताया कि वह तत्काल एक्शन के लिए मुख्यमंत्री को पत्र भेज रहे हैं।