Uksssc Paper Leak: 36 लाख रुपये में लेकर किया था एसएससी को पेपर लीक, एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

 
Uksssc Paper Leak

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की परीक्षा पेपर लीक करने वाला एसटीएफ के हत्थे चढ़ गया है। हत्थे चढ़ा शातिर आयोग की आउटसोर्स कंपनी आरएमएस सॉल्यूशन का ही कर्मचारी है। जिसकी जिम्मेदारी पेपर छपने के बाद सील करने की थी। लेकिन शातिर ने तीनों पालियों के एक-एक सेट को टेलीग्राम के माध्यम से साथियों को भेज दिया। इस काम के बदले में उसको 36 लाख रुपये मिले थे। बता दें कि आयोग की स्नातक स्तरीय परीक्षा गत वर्ष दिसंबर में आयोजित की गई थी। इसके बाद से ही इसमें धांधली की बात सामने आई थी। बीती 22 जुलाई को मुख्यमंत्री धामी के निर्देश पर रायपुर थाने में  इस संबंध में मुकदमा दर्ज किया गया। उसके बाद इसकी जांच एसटीएफ को सौंपी गई थी। इसके बाद एसटीएफ ने छह लोगों को गिरफ्तार किया था। इनमें से दो का कोर्ट ने रिमांड और पुलिस कस्टडी  मंजूर की थी। लेकिन इससे पहले एसटीएफ के रडार पर प्रिंटिंग प्रेस से जुड़ा कर्मचारी आ गया। 

Read also: UP PCS Prelims Exam Result 2022: यूपी पीसीएस प्री परीक्षा 2022 का परीक्षा परिणाम घोषित, 5964 अभ्यर्थी सफल

पता चला कि कंपनी में काम करने वाले अभिषेक वर्मा नामक युवक ने कुछ दिनों के भीतर काफी रुपये खर्च किए हैं। गाड़ी खरीदी और गांव का मकान भी तैयार करवा लिया है। एसटीएफ को पता चला कि वह देहरादून आने वाला है। शाम को जब देहरादून आया तो एसटीएफ ने पूछताछ के लिए बुलाया। उसने बताया कि उसकी जिम्मेदारी पेपर छपने के बाद लिफाफों में सील करने की थी।  उसने तीनों पालियों के एक-एक सेट को निकाल लिया और फोटो खींचकर टेलीग्राम के माध्यम से  साथियों को भेज दिया। उसको इस काम के लिए 36 लाख रुपये दिए गए थे। एसटीएफ एसएसपी अजय सिंह ने जानकारी दी है कि अभिषेक वर्मा को गिरफ्तार कर लिया है। उसके मोबाइल से इलेक्ट्रॉनिक सबूत जुटाए जा रहे हैं। इसके अलावा उसके दूसरे साथियों को गिरफ्तार किया गया है। अभिषेक मूल रूप से सीतापुर जिले के शेरपुर गांव का रहने वाला है। कोर्ट के आदेश पर आरोपी को जेल भेज दिया है।