Kanwar Yatra 2022: लैंगिक असमानता खत्म करने को मंत्री रेखा आर्य ने उठाई कांवड़

 
Kanwar Yatra 2022

हरिद्वार। उत्तराखंड की मंत्री रेखा आर्य सुर्खियों में बनी रहने के लिए कुछ ना कुछ करती रहती हैं। अब सावन के महीने में उत्तराखंड की इस मंत्री ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ संदेश और लैंगिक असमानता को खत्म करने का संकल्प लेते हुए आज हरिद्वार से कांवड़ उठाई। उनकी ये कांवड़ यात्रा ऋषिकेश पर जाकर संपन्न होगी। महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य की कांवड़ यात्रा के साथ सैकड़ों लोग चल रहे हैं। कांवड़ के लिए उन्होंने सुबह हरकी पैड़ी पहुंचकर जल भरा। इसके बाद वहां से पैदल ऋषिकेश के लिए चल दी। वो वीरभद्र महादेव मंदिर में जलाभिषेक करने के लिए रवाना हुईं हैं। इस दौरान उनके साथ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिकाओं और सुपरवाइजरों सहित करीब 200 महिलाएं शामिल रही।

Read also: PPS Transfer : सरकार ने किए 20 पीपीएस अफसरों के तबादले, प्रदीप एएसपी मुख्यमंत्री सुरक्षा

मंत्री रेखा आर्य के साथ महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास सचिव एचसी सेमवाल, गंगासभा के अध्यक्ष प्रदीप झा, विधायक आदेश चौहान, पूर्व विधायक देशराजराज कर्णवाल, महंत रवींद्र पुरी, महंत हरिगिरी आदि हैं। मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि लैंगिक असमानता को खत्म करने को लेकर उत्तराखंड सरकार ने संकल्प लिया है। सावन के पवित्र महीने में एक संदेश उन माता-पिता और समाज को, जो लड़कियों को लेकर ऐसी सोच रखते हैं। इसलिए हमने संकल्प का नाम भी 'मुझे भी जन्म लेने दो, शिव के माह में शक्ति का संकल्प' दिया है। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी बहनों और विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों को स्पष्ट निर्देश दिए थे कि वह इस संकल्प को पूरा करने में अपना सहयोग दें। कांवड़ संकल्प यात्रा में बड़ी संख्या में बहनें पहुंचीं हैं। सभी को कहा है कि आंगनबाड़ी बहनें व विभागीय अधिकारी, कर्मचारी नजदीकी शिवालयों में जलाभिषेक करें और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के संकल्प को पूरा करें।