Kanwar Yatra 2022: रूड़की से नीलकंठ तक हाइवे मेला क्षेत्र घोषित,400 सीसी कैमरे और 10 हजार पुलिस कर्मी करेंगे सुरक्षा

 
Kanwar Yatra 2022

हरिद्वार। कांवड़ मेला के मद्देनजर पुलिस ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। इसके लिए रुड़की से नीलकंठ तक करीब 60 किलोमीटर का हाइवे मेला क्षेत्र घोषित कर दिया गया है। मेला क्षेत्र में 38 पुलिस सर्किल बनाए हैं। पुलिस ने आम लोगों से इस क्षेत्र में नहीं आने की अपील की है। पहाड़ी जिलों को जाने के लिए मेरठ-बिजनौर-कोटद्वार और अन्य सड़क मार्गों का उपयोग किया जा सकता है।  डीजीपी अशोक कुमार ने कांवड़ मेले सुरक्षा व्यवस्था की जानकारी दी। उन्होंने बताया कांवड़ मेले की औपचारिक शुरूआत कल गुरुवार से हो रही है। हालांकि पूर्णिमा 13 जुलाई से मेले की शुरूआत हो जाएगी। इसी के साथ ही कांवड़ियों का आना भी शुरू हो जाएगा। सभी क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था के प्रबंध किए गए हैं। आतंकरोधी दस्ता,बम निरोधक दस्ता,घुड़सवार बल, पुलिस फोर्स आदि तैनात कर दिए हैं। 

Read also: Uttarakhand News: देर रात 37 आईएफएस अधिकारियों के तबादले,जाने किसको कहां मिली तैनाती

उन्होंने बताया रुड़की से नीलकंठ तक 60 किलोमीटर हाइवे कांवड़ियों के लिए रहेगा। 13 से 27 जुलाई तक अत्यधिक भीड़ रहेगी। आम आदमी के लिए और पहाड़ी जिलों को जाने के लिए अलग से रूट निर्धारित किए हैं। इसके लिए पहले से व्यवस्था की जानकारी दी गई है। आम लोगों से अपील की गई है कि वो पहाड़ आने के लिए मेरठ-बिजनौर- कोटद्वार और मुजफ्फरनगर-देहरादून मार्ग का प्रयोग करें। कांवड़ मेले में अराजकता का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए पुलिस पूरी तरह से तैयार है। क्षेत्र में अलग-अलग जगहों पर व्यवस्थाएं की गई हैं। इसकी निगरानी पुलिस मुख्यालय से की जाएगी। हर दिन का अपडेट मुख्यालय लेगा। कांवड़ियों से अपील की गई है कि वह रजिस्ट्रेशन कराने के बाद हरिद्वार पहुंचे। 

सुरक्षा को लेकर जो प्रबंध किए गए हैं उसके मुताबिक 10 हजार पुलिसकर्मी की तैनाती के साथ ही 11 एसपी-एएसपी जिम्मेदारी सौंपी गई है। वहीं 38 सीओ की तैनाती की गई है। मेला क्षेत्र में पांच आतंकरोधी दस्ते तैनात किए गए हैं। 400 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। सभी 38 सर्किल में एक-एक ड्रोन कैमरे से भी निगरानी की जाएगी।