Haridwar News: दवा कंपनियों पर एसटीएफ और नारकोटिक्स विभाग का छापा,करोड़ों रुपये के रेमडेसिविर इंजेक्शन बरामद

 
Haridwar News

हरिद्वार। हरिद्वार में नकली दवाइयों के कारोबारियों पर एसटीएफ और नारकोटिक्स विभाग की बड़ी कार्रवाई हुई है। एसटीएफ और नारकोटिक्स विभाग ने संयुक्त रूप से इन दवा कंपनियों पर छापेमारी की है। लम्बे समय से एसटीएफ को सूचना मिल रही थी कि जिले के भगवानपुर क्षेत्र में दवाई फैक्ट्री में नकली दवाइयों का कारोबार चल रहा है। इन कंपनियों में बड़ी मात्रा में रेमेडीसीविर इंजेक्शन बनाए जा रहे थे। सूचना पुष्टि होने पर एसटीएफ और नारकोटिक्स विभाग ने आज छापेमारी कर करोड़ो की नकली दवाइयों के अलावा रेमेडीसीविर इंजेक्शन बरामद किया। बताया गया जिस जगह एसटीएफ ने छापा मारा है। उस दवा कंपनी में कोरोना के दौरान जरूरी इजेक्शन रेमडेसिविर बड़े पैमाने पर तैयार किया जा रहा था। एसटीएफ और नारकोटिक्स की संयुक्त टीम ने छापेमारी के दौरान कंपनी के लाइसेंस और अन्य कागजातों की मांग की। लेकिन कंपनी के पास दवाइयां बनाने के लिए किसी भी प्रकार के कागजात उपलब्ध नहीं थे। जिसके बाद छापेमार टीम ने दवा कंपनी और लाखों रूपये की रेमेडीसीविर को सीज किया।

Read also: Lekhpal Paper Leak: पेपर लीक पर बोले भाजपा सांसद, युवाओं से खिलवाड़ कब तक?

एसटीएफ की कार्रवाई के बाद जहां कंपनी को सीज कर दिया। वहीं दवाइयों के सैंपल जांच के लिए लेबोरेटरी में भेज दिए गए हैं। जाचं रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि इससे पहले भी एसटीएफ द्वारा हरिद्वार और देहरादून में प्रतिबंधित दवाइयां बनाने और फर्जी दवाई कंपनियों के खिलाफ ताबड़तोड़ छापेमारी की गई थी। जिसमें तीन कंपनियों के साथ करोड़ों रुपये की दवाइयों को सीज किया था। एसटीएफ और नारकोटिक्स विभाग की इस छापेमार कार्रवाई के बाद दवा व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है। कुछ दवा फैक्ट्री में बाहर से ताला लगा दिया गया है। वहां पर कार्यरत कर्मचारियों केा भी कुछ दिनों के लिए अवकाश पर भेज दिया गया है।