Haldwani News: बारिश की तबाही के बीच हल्द्वानी में पीने के पानी का संकट

 
Haldwani News

हल्द्वानी। उत्तराखंड में इन दिनों बारिश ने खूब तबाही मचाई हुई है। हल्द्वानी में भी इस समय जमकर बारिश हो रही है। वहीं इस भारी बरिश के बीच ही अब लोगों को पीने के पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है। शहर की ढाई लाख की आबादी पानी को तरस गई है। लगातार हो रही बारिश के चलते हल्द्वानी में पीने के पानी का संकट बढ़ रहा है। दरअसल पहाड़ों में लगातार बारिश हो रही है। जिस कारण हल्द्वानी गौला बैराज में अत्यधिक मात्रा में सिल्ट आ गई। इस सिल्ट के कारण पानी साफ करने में फिल्टर प्लांट में खराबी आ गई है। जिसके चलते हल्द्वानी में पानी सप्लाई कम हो गई है। जल संस्थान जगह-जगह पानी के टैंकर भेज आपूर्ति को दुरूस्त करने का काम कर रहा है। लेकिन जल संस्थान के ये प्रयास नाकाफी हैं। 

शहर में राजपुरा, दमुआढुंगा, बनभूलपुरा, काठगोदाम,  रामपुर रोड, पश्चिम बरेली रोड सहित कई क्षेत्रों में पानी की भारी किल्लत बनी है। हल्द्वानी शहर की दर्जनों कॉलोनियों में पेयजल के लिए लोग परेशान हैं। शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में ढाई लाख की आबादी को बिना पानी के दिन गुजारने पड रहे हैं। लोगों का कहना है कि जल संस्थान पिछले कुछ साल से साफ पानी की सप्लाई देने में असफल रहा है। मजबूरन जनता को पानी की मांग को लेकर धक्के खाने पड़ रहे है। छोटे बच्चे जिनकी खेलने-कूदने और पढ़ने की उम्र है, वे प्रतिदिन पानी के लिए दो से तीन किलोमीटर तक भटकते हैं। हल्द्वानी में हर जगह कहीं न कहीं पानी की समस्या से लोग परेशान हैं।

Read also: Shiv Sena Crisis:: शिवसेना की विरासत पर EC अभी न ले फैसला, SC की हिदायत

स्थानीय लोगों ने बताया कि क्षेत्र में पानी की बहुत ज्यादा दिक्कत है और ट्यूबवेल भी सुचारू रूप से नहीं चल पा रहा है। लोग बारिश का पानी पीने को मजबूर है। हल्द्वानी में गर्मियों के सीजन में तो पानी नहीं मिलता था। लेकिन अब बरसात के मौसम में भी पीने का जल नहीं मिल रहा है। बता दें कि हल्द्वानी को कुमाऊं का प्रवेश द्वार बोला जाता है। समझ सकते हैं जब प्रवेश द्वार वाले जिले की ये स्थिति है तो बाकी कुमाऊं का क्या हाल होगा।