Char Dham Yatra : इन तीन राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए जारी हुई नई एडवाइजरी

 
Chardham Yatra

देहरादून। चारधाम यात्रा के लिए आ रहे श्रद्धालुओं के लिए एडवाइज़री की गई है। जिसमें तीन राज्यों से आने वालों को आगाह किया गया हैं कि वे लोग अपने स्वास्थ्य परीक्षण को जरूर कराए और चार धाम यात्रा के लिए हो रहे पंजीकरण में फ्रांड से भी बचें। बता दें कि सबसे अधिक फ्राड के मामले इन्हीं तीन राज्यों के लोगों के साथ हुए हैं। जिसमें अब तक पुलिस को सबसे अधिक शिकायतें पहुंची हैं।

Also Read : Champawat By-Election 2022: दो घंटे के चंपावत उपचुनाव में पड़े 18 फीसदी वोट, दांव पर सीएम धामी की किस्मत

पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर रही है, जो फर्ज़ी रजिस्ट्रेशन के साथ चार धाम की यात्रा के लिए पहुंच रहे हैं। वहीं रजिस्ट्रेशन करने वाली फर्जी एजेंसियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है। बता दें कि गत 3 मई से चारधाम यात्रा की शुरूआत हुई थी। अब तक करीब 15 लाख से अधिक श्रद्धालुगण चार धाम की यात्रा के लिए पहुंच चुके हैं। इनमें से 117 श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है।

चार धाम यात्रा के दौरान मौत का कारण पूरी तरह से स्वास्थ्य नहीं होना बताया गया है। चार धाम यात्रा में मरने वाले सबसे अधिक श्रद्धालुगण गुजरात,महाराष्ट्र और राजस्थान के हैं। इसी को देखते हुए चार धाम यात्रा पर इन तीन राज्यों से आने वालों के लिए एडवाइज़री जारी कर इनका स्वास्थ्य परीक्षण आवश्यक कर दिया गया है। 

Also Read : Champawat Bypoll: सुबह 7 बजे से बूथों पर लंबी लाइनें, कई जगह ईवीएम खराब

यात्रा के दौरान जारी व्यवस्था में फर्जीवाड़ा होने के बाद अब इन्हीं तीन राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं के साथ अब ट्रैवल एजेंसी से जुड़े लोगों पर भी नजर रखी जा रही है। ये लोग चार धाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में छेड़छाड़ का खेल करके चार धाम में जाने वाली तिथि को आगे पीछे कर देते हैं। ऐसे मामलों में पुलिस ने 14 मुकदमे दर्ज किए। सबसे अधिक फ्रांड के मामले महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान के श्रद्धालुओं के साथ हुए हैं।