Medical Device Park Haridwar: हरिद्वार में ​मेडिकल डिवाइस पार्क बनाने को केंद्र सरकार की ना,राज्य सरकार को लगा झटका

 
Medical Device Park Haridwa

हरिद्वार। केंद्र सरकार ने हरिद्वार के औद्योगिक क्षेत्र बीएचईएल में प्रदेश के पहले मेडिकल डिवाइस पार्क बनाने की अनुमति देने से मना कर दिया है। इससे उत्तराखंड सरकार को बड़ा झटका लगा है। केंद्र सरकार ने राज्य की ओर से भेजे गए प्रस्ताव को सिरे से खारिज कर दिया। राज्य सरकार ने इस मेडिकल डिवाइस पार्क के लिए 100 एकड़ जमीन का चयन कर प्रस्ताव केंद्र को भेजा था।  त्रिवेंद्र सरकार के समय से हरिद्वार के बीएचईएल औद्योगिक क्षेत्र में मेडिकल डिवाइस पार्क बनाने की कोशिश शुरू हुई थी। केंद्र सरकार की मेडिकल डिवाइस पार्क योजना के तहत राज्य औद्योगिक विकास निगम ने सौ एकड़ जमीन का चयन कर  परियोजना की विस्तृत रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजी थी। योजना में पार्क को बनाने के लिए केंद्र की तरफ से बजट दिया जाता है। लेकिन केंद्र से मेडिकल डिवाइस पार्क को मंजूरी नहीं मिली। जिससे हरिद्वार में इस पार्क के बनाने की उम्मीद खत्म हो गई। 

Read also: Parliament Monsoon Session Live: हंगामे की भेंट चढ़ा संसद के मानसून सत्र का दसवां दिन,दो दिन के लिए सदन स्थगित

बता दें कि केंद्र सरकार ने तेलंगाना,आंध्र प्रदेश,  तमिलनाडु और केरल को मेडिकल डिवाइस पार्क की मंजूरी दे दी है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार मेडिकल डिवाइस पार्क के लिए चयनित जमीन को अब अन्य उद्योगों को स्थापित करने के लिए विकसित किया जाएगा। मेडिकल डिवाइस पार्क में सर्जिकल व मेडिकल उपकरण बनाने वाली फार्मास्युटिकल्स कंपनियों के स्थापित किए जाने की योजना थी। जहां उन्हें सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराई जानी थी। बता दें कि उत्तराखंड फार्मा उद्योग का हब बन चुका है। देहरादून, हरिद्वार में ही तीन सौ से अधिक फार्मास्युटिकल कंपनियां दवाइयां बनाने के काम में जुटी है। उत्तराखंड से दवाइयों को निर्यात देश ही नहीं विदेश में भी किया जाता है।