Badrinath Yatra: लगातार हो रही बारिश से बद्रीनाथ हाइवे बंद, सेना के वाहन फंसे आपूर्ति रुकी

 
Badrinath Yatra

देहरादून। बारिश से राज्य के हालात काफी खराब हैं। रड़ांग बैंड, बैनाकुली और खचड़ा नाले में मलबा और बोल्डर से बदरीनाथ हाईवे दिनभर के लिए बंद रहा। बदरीनाथ जा रहे और  लौट रहे 4500 यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर रोका है। हाईवे खुलने के बाद यात्रियों को रवाना किया जाएगा।

Read also: Cyclone Alert: बंगाल की खाड़ी में बना चक्रावात पूरे देश में छाया, छह जून को बारिश का अलर्ट


शुक्रवार रात से भारी बारिश के कारण बदरीनाथ हाईवे रात से बैनाकुली और रड़ांग बैंड में अवरुद्ध हो गया। यहां दिनभर मलबा हटाने का काम चल रहा है।  शनिवार को दोपहर बाद दोनों जगहों पर वाहनों की आवाजाही शुरू हुई। लेकिन खचड़ा नाले में पहाड़ी से बोल्डर और मलबा हाईवे पर आया। इस समय खचड़ा नाला उफान से पानी हाईवे तक पहुंच गया। इसके बाद यात्रा के लिए वाहनों की आवाजाही रोक दी है।

बदरीनाथ जा रहे 2500 तीर्थयात्रियों को गोविंदघाट, पांडुकेश्वर के अलावा जोशीमठ में रोका है। बदरीनाथ से लौट रहे दो हजार तीर्थयात्रियों को लामबगड़ व बदरीनाथ में रोका है। कई तीर्थयात्रियों को निजी होटलों के साथ गोविंदघाट गुरुद्वारे में ठहराया है। यात्रा वाहनों को जोशीमठ से दस किलोमीटर की दूरी पर स्थित मारवाड़ी पुल से आगे नहीं जाने दिया है।


 आपदा प्रबंधन अधिकारी नंद किशोर जोशी ने बताया कि क्षेत्र में लगातार बारिश के कारण हाईवे पर मलबा आ रहा है। यात्रा वाहनों को सुरक्षित जगह पर रोका है। आज रविवार को मौसम साफ होने पर यात्रियों को आगे रवाना किया जाएगा।

Read also: Uttarakhand Weather Update: इस सप्ताह भारी बारिश का अलर्ट,जिला मुख्यालयों से गांव जोड़ने वाली अधिकांश सड़कें बंद


बदरीनाथ हाईवे सामरिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है। चीन सीमा को जोड़ने वाले इस मार्ग से सेना और आईटीबीपी के जवानों की आवाजाही है। बार-बार हाईवे के बाधित होने से सेना को दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। सेना की अग्रिम चौकियों तक आवश्यक सामग्री पहुचाने में दिक्कत आ रही है। शनिवार को सेना के वाहन जाम में फंसे रहे।