Badrinath Highway Landslide: भारी बारिश में बहा बदरीनाथ धाम हाइवे,700 तीर्थ यात्री फंसे दोनों ओर वाहनों की लाइनें

 
Badrinath Highway Landslide

जोशीमठ। भारी बारिश के चलते बदरीनाथ धाम हाइवे पर खचड़ा और लामबगड़ नाला उफान पर है। इससे इन दोनों जगहों से बदरीनाथ हाईवे बह गया। हाईवे पर दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइनें लगी रही। वहीं हादसे के बाद करीब 700 तीर्थयात्री इस समय फंसे हुए हैं। पुलिस ने सभी तीर्थ यात्रियों को एक जगह पर रोका हुआ है। दो दिन से भारी बारिश होने के कारण हाईवे की मरम्मत का काम भी शुरू नहीं हो पाया। पिछले कुछ दिनों से लामबगड़ क्षेत्र में बारिश रुक-रुककर हो रही है। जिससे बदरीनाथ धाम मार्ग स्थित खचड़ा नाले में मलबा आ गया। बीआरओ ने मशीनों के माध्यम से मलबा हटाकर शुक्रवार की सुबह छह बजे तक हाईवे को सुचारु कर दिया था। लेकिन उसके बाद एक बार फिर से बारिश शुरू हुई और इसके बाद भारी बारिश में खचड़ा और लामबगड़ उफान पर आ गया। जिसके बाद हाईवे का काफी हिस्सा बह गया। 

Read also: Bihar Rain Alert: मैदान से पहाड़ तक बारिश का कहर,बिहार में बिजली की चपेट में आने से 11 मरे

हाईवे बंद होने पर गोविंदघाट और बदरीनाथ थाना पुलिस ने तीर्थयात्रियों के वाहनों को जोशीमठ, मारवाड़ी,गोविंदघाट में रोक लिया। बदरीनाथ धाम जा रहे करीब 500 यात्रियों को पहले ही रोका है। जबकि बदरीनाथ की ओर 250 तीर्थ यात्रियों को रोका है। 
बीआरओ कमांडर कर्नल मनीष कपिल ने बताया कि बदरीनाथ हाईवे इस समय पूरी तरह से अवरुद्ध है। बारिश लगातार जारी है। बारिश रुकने के बाद ही हाइवे को खोलने का काम शुरू किया जाएगा। वहीं, ग्राम पंचायत भट्टवाड़ी (मणिगुह) के मध्या गांव तोक से छेना तोक तक भूस्खलन होने से परिवार का आवासीय भवन व गोशाला क्षतिग्रस्त हो गई है।