Global Food Crisis: रुसी हमले के बीच यूक्रेन ओडेसा बंदरगाह से करेगा अनाज का निर्यात

 
Global Food Crisis

कींव। रूस की तरफ से जारी मिसाइल हमलों के बीच यूक्रेन के बड़े बंदरगाह ओडेसा से अब अनाज निर्यात की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके साथ यूक्रेन की तरफ से चेतावनी दी गई है कि अगर बंदरगाह पर हमले हुए तो इससे अनाज की आपूर्ति बाधित हो सकती है। इस बीच तुर्की राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगान ने दावा किया है कि जल्द ही काला सागर से अनाज निर्यात शुरू हो जाएगा। यूक्रेन राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने ओडेसा बंदरगाह पर हमले को बर्बरता करार दिया और कहा कि रूस समझौते के क्रियान्वयन का भरोसा नहीं किया जा सकता। इससे पहले गत शुक्रवार को वैश्विक खाद्यान्न संकट के बीच ही दोनों देशों के बीच काला सागर में अनाज निर्यात पर समझौता हुआ था। यह समझौता तुर्की और संयुक्त राष्ट्र की पहल पर हुआ। 

Read also: Earthquake In Nepal: भूकंप से डोली नेपाल की धरती,घरों से बाहर आए लोग

यूक्रेनी सेना के हवाले से बताया गया है कि रूसी हमले में अनाज भंडार को नुकसान नहीं पहुंचा। बुनियादी ढांचा मंत्री अलेक्जेंडर कुब्राकोव ने बताया कि बंदरगाहों से कृषि उत्पाद निर्यात के लिए तकनीकी तैयारी है। यूक्रेन अगले नौ महीनों में छह करोड़ टन अनाज निर्यात कर सकता है। लेकिन अगर बंदरगाह ठीक से काम नहीं कर पाए तो इसमें करीब दो साल लग जाएंगे। तुर्की राष्ट्रपति ने कहा कि उनका देश कूटनीतिक माध्यम से रूस और यूक्रेन के मामलों को दूर कर अनाज निर्यात की बहाली का हरसंभव प्रयास करेगा। संयुक्त राष्ट्र व्यापार कार्यालय ने कहा कि वह यूरोपीय संघ, अमेरिका और रूस के साथ अनाज निर्यात की बाधाओं को दूर करने पर मध्यस्थात करता रहेगा।