Russia Ukraine War News: यूक्रेन ने भारत और जर्मन सहित कई देशों से अपने राजदूतों को हटाया,निर्णायक मोड़ पर पहुँचा युद्ध

 
Russia Ukraine War News

कीव। रूस के साथ युद्ध के बीच यूक्रेन राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने भारत और जर्मनी के अलावा अन्य कई देशों के अपने राजदूतों को हटा दिया। यह जानकारी राष्ट्रपति कार्यालय की वेबसाइट पर दी है। इस निर्णय के जारी किए गए आदेश में इसका  कोई ठोस कारण नहीं बताया है। राजदूत हटाए जाने वालों में भारत, जर्मनी के अलावा चेक गणराज्य और नार्वे व हंगरी शामिल हैं। हटाये गए इन राजनयिकों की तैनाती कहां की जाएगी, इसकी जानकारी नहीं दी गई।

Read also: PM Modi ने की फ्रांस के राष्ट्रपति Macron से मुलाकात, यूक्रेन और अफगानिस्तान के हालात पर की चर्चा


रूस द्वारा हमला किए जाने के बाद जेलेंस्की ने यूक्रेन के राजदूतों से वैश्विक स्तर पर समर्थन जुटाने को कहा था। उन्होंने रूस का सामना करने के लिए विभिन्न देशों से हथियारों की आपूर्ति सुनिश्चित कराने के प्रयास करने का निर्देश दिया था। लेकिन यूक्रेन को इसमें अपेक्षित सफलता नहीं मिली। रूसी सेना का सामना करने के लिए उसे अभी भारी मात्रा में हथियारों की जरूरत है। समय-समय पर राष्ट्रपति जेलेंस्की को इसके लिए वैश्विक समुदाय से गुहार लगाते हुए देख  सकते है।

यूक्रेन ने अपने नागरिकों से रूस के कब्जे वाले क्षेत्रों को खाली कर देने की अपील की है, जिससे वहां यूक्रेनी सेना बेहिचक जवाबी कार्रवाई कर सकें। यूक्रेन उप प्रधानमंत्री इरिना वेरेशचुक ने एलान किया है कि दक्षिणी क्षेत्र में रूस के साथ भीषण युद्ध होने वाला है। बता दे कि पिछले हफ्ते रूस ने यूक्रेन के गढ़ लुहांस्क के लिसिचांस्क पर कब्जे का एलान किया। विश्लेषकों का मानना है कि रूसी सेना को विराम लेना होगा, लेकिन अब तक अभियान रोकने संबंधी कोई घोषणा नहीं हुई है।

Read also: Russia-Ukraine War: यूक्रेन में बढ़ रहा परमाणु हमले का खतरा, रूस ने शुरू किया न्यूक्लियर का अभ्यास


यूक्रेन ने सेना को मजबूत करने के लिए सहयोगी देशों से हथियारों की मांग की। यूक्रेन के मुख्य वार्ताकार मायखाइलो पोडोलीक ने कहा है कि युद्ध में अब नया मोड़ आने वाला है। आपूर्ति बाधित होने और नुकसान के कारण रूस को अपना अभियान रोकना पड़ा। अब उन्हें नए सिरे से हथियारों और जवानों को तैनात करना होगा।