Big News: खाद्य सामग्री ले जा रहे ट्रकों पर आतंकियों का हमला,18 नागरिकों की हत्या

 
Big News

मोगादिशु। सोमालिया के मध्य स्थित अर्धस्वायत्त राज्य हिर्शबेले  हिरन में खाद्य सामग्री ले जा रहे ट्रकों को अलशबाब आतंकियों ने हमला कर नष्ट कर दिया। इस दौरान आतंकियों ने 18 नागरिकों को मार दिया और ट्रकों को आग लगा दी है। जानकारी के अनुसार मारे गए लोग ट्रकों के चालक-परिचालक थे। अलकायदा से जुड़े आतंकी संघठन ने एक दशक से अधिक समय से सोमालिया केंद्रीय सरकार से युद्ध छेड़ रखा है। वह सोमालिया में इस्लामिक शरिया कानून लागू करवाना चाहता है। सेना और नागरिक ठिकानों को लगातार बमबारी और बंदूकों से निशाना बना रहा है। गत महीने उसने राजधानी के हयात होटल पर हमला कर 20 लोगों की हत्या कर दी थी। होटल को आतंकियों से मुक्त कराने में सुरक्षा बलों को 30 घंटे लग गए थे।  वहीं एक अन्य घटना में यूरेशिया के सबसे ऊंचे सक्रिय ज्वालामुखी पर चढ़ाई करते पांच लोगों की मौत हो गई। बचावकर्मी दो घायलों को बचाने के प्रयास में जुटे हुए हैं।  एजेंसी ने कमचटका क्षेत्र के अभियोजन ऑफिस के हवाले से बताया कि 4750 मीटर ऊंचे क्लाइयुचेव स्कावा ज्वालामखी पर चढ़ने के प्रयास में केवल 500 मीटर दूरी पर हादसा हुआ। चढ़ाई करने वाले लोग रूसी थे। इस हादसे के ज्यादा विवरण की जानकारी नहीं मिल सकी है।

Read also: Mamata Banerjee RSS: कभी आरएसएस ने बताया था पश्चिमी बंगाल की दुर्गा, अब ममता बनर्जी का आरएसएस का ज़िक्र छेड़ना रणनीति का हिस्सा

वहीं सिंगापुर अब वृद्धावस्था संबंधी मुद्दों का सामना कर रहा है। भारतीय मूल के करीब नौ प्रतिशत लोगों सहित देश के 39 लाख लोग उम्र संबंधी मुद्दों का सामना कर रहे हैं। परोपकार संस्था श्री नारायण मिशन के  मुताबिक देश के वरिष्ठ नागरिकों की मदद के लिए सामुदायिक सेवा पहले से अब अधिक जरूरी है। श्री नारायण मिशन सिंगापुर, के सीईओ एस. देवेंद्रन ने कहा कि एसएनएम सिंगापुर में बुजुर्गों के जीवन प्रभावित करने वाले मुद्दे हल करना चाहता है। उन्होंने कहा कि हमें इस बात पर गहराई से विचार करने की जरूरत है कि हमारा भारतीय समुदाय उम्र बढ़ने के प्रबंधन में और इन खाइयों को पाटने में सरकार की किस प्रकार मदद कर सकता है।  ऋतंभरा अनाथालय योजना के लिए 50 हजार डॉलर जुटाए है। अटलांटा में भारतवंशी समुदाय ने आध्यात्मिक नेता साध्वी ऋतंभरा द्वारा संचालित अनाथालय परियोजना वात्सल्य ग्राम की सहायता के लिए 50 हजार डॉलर जुटाए हैं। जहाँ पर सैकड़ों भारतीय अमेरिकी ग्लोबल मॉल में जमा हुए। बता दे ऋतंभरा इस समय अमेरिका यात्रा पर हैं।